मुंबईः अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के बेहद करीबी साथी फारूक टकला की दुंबई से गिरफ्तार को चर्चित वकील उज्जवल निकम ने देश के लिए बड़ी कामयाबी करार दिया है. फारूक टकला को गुरुवार को मुंबई की विशेष टाडा अदालत में पेश किया जाएगा. वर्ष 1993 के मुंबई दंगों का आरोपी टकला उसी वक्त से देश से फरार था. उससे सीबीआई पूछताछ कर रही है. उसके खिलाफ 1995 में रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया गया था. गुरुवार सुबह ही एयर इंडिया के विमान से टकला को मुंबई लाया गया. टकला को सीबीआई दफ्तर ले जाया गया है. जिसके बाद उसे टाडा कोर्ट में पेश किया जाएगा. Also Read - हथियारों के जखीरे के साथ आतंकी अरेस्ट, नए आतंकी संगठन ने कहा- बाहर का जो कश्मीर में बसेगा, मारा जाएगा

25 साल पहले मार्च के महीने में ही मुंबई में एक के बाद एक 12 बम धमाके हुए थे. इन धमाकों में 257 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 700 से ज्यादा लोग घायल हुए थे. इस मामले में 129 लोगों के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया गया था. साल 2007 में टाडा कोर्ट ने 100 लोगों को सजा सुनाई. इसी मामले में मुंबई हमले के मास्टरमांइड टाइगर मेमन के भाई याकूब मेमन को 2015 में फांसी हुई थी. वहीं आतंकी दाऊद इब्राहिम 1993 से फरार है. मीडिया रिपोर्ट्स में ऐसी खबरें आती रही है कि दाऊद लंबे समय से पाकिस्तान में रहा है.

बता दें कि 600 लोगों की गवाही के बाद 2007 में हुई सुनवाई के पहले फेज में टाडा कोर्ट ने याकूब मेमन और संजय दत्त समेत 100 लोगों को दोषी ठहराया था, जबकि 23 लोग बरी हुए थे. उनमें से मेमन को फांसी चढ़ाया जा चुका है और अवैध हथियार मामले में संजय दत्त अपनी सजा पूरी कर चुके हैं. इस मामले में 4 नवंबर, 1993 को 10 हजार पन्नों की चार्जशीट दायर की गई थी.