चंडीगढ़: जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद (Umar Khalid) पर हमला करने का दावा करने वाले और खुद को गाय का रक्षक बताने वाले नवीन दलाल (Naveen Dalal) को शिवसेना (Shivsena) ने हरियाणा विधानसभा के चुनावी (Haryana Assembly Election 2019) मैदान में उतारा है. दलाल फिलहाल हत्या के प्रयास और दंगे के आरोपों का सामना कर रहे हैं. उन्होंने कभी आयकर रिटर्न दाखिल नहीं किया है. उन्हें शिवसेना ने प्रदेश में 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनाव में झज्जर जिले के बहादुरगढ़ (Bahadurgarh Assembly Seat) से मैदान में उतारा है.

दलाल का कहना है कि वह छह महीने पहले पार्टी में शामिल हुए थे. उन्होंने नवल नवीन के रूप में अपना नामांकन दाखिल किया. दलाल (29) ‘पहलवानों की नर्सरी’ के रूप में कहे जाने वाले बहादुरगढ़ के एक गांव मंडौठी के रहने वाले हैं. वह राष्ट्रवाद और गौ रक्षा के लिए अपनी विचारधारा के कारण शिवसेना में शामिल हुए थे.

सलमान खुर्शीद का दर्द, कहा- हमने रोका, फिर भी राहुल गांधी ने छोड़ा पद, ये नहीं होना चाहिए था

पार्टी अध्यक्ष (हरियाणा दक्षिण) विक्रम यादव ने कहा कि दलाल गौ रक्षा के लिए और राष्ट्र विरोधी तत्वों के खिलाफ राष्ट्रवादी मुद्दों पर लड़ रहे थे. उनके अनुसार भाजपा और कांग्रेस दोनों सरकारों के पास किसान, शहीद, गाय और गरीबों के लिए कुछ भी करने के लिए नहीं है और उन्हें महज राजनीति में दिलचस्पी है. अगस्त 2018 में हरियाणा के दो लोगों ने कथित तौर पर जेएनयू के छात्र नेता उमर खालिद पर हमला करने की जिम्मेदारी ली थी, जिनमें दलाल भी शामिल थे.