मुंबई: शिवसेना ने जम्मू-कश्मीर में हिंसा के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विदेशी दौरे की आलोचना करते हुए कहा कि वे विफल साबित हुए हैं.जम्मू-कश्मीर में कथित मानवाधिकार उल्लंघनों पर हाल में जारी संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट का हवाला देते हुए बीजेपी के सहयोगी ने कहा कि यह दिखाता है कि मोदी के लगातार विदेशी दौरे का कोई सकारात्मक परिणाम नहीं निकला है और वास्तव में उनकी छवि खराब हुई है.

रमजान के दौरान कश्मीर में एकतरफा संघर्ष विराम और श्रीनगर में वरिष्ठ पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या को लेकर उद्धव ठाकरे नीत पार्टी ने राजग सरकार की आलोचना की. शिवसेना के मुखपत्र सामना के संपादकीय में लिखा गया है कि भारत की आंतरिक सुरक्षा मजाक बनकर रह गई है. अयोध्या में अभी तक राम मंदिर नहीं बना है. भगवान राम वनवास में हैं. लेकिन देश की सुरक्षा रामभरोसे है.

इसमें लिखा गया है कि रमजान के दौरान जम्मू-कश्मीर में हिंसा, खून-खराबा और आतंकवादियों द्वारा हत्याओं के लिए सरकार जिम्मेदार है. प्रधानमंत्री की आलोचना करते हुए शिवसेना ने कहा कि मोदी विदेशी दौरे में व्यस्त हैं और जम्मू-कश्मीर में लोग मारे जा रहे हैं. सामना में लिखा गया है कि पिछले चार महीने में कश्मीर में 400 से ज्यादा लोग मारे गए हैं जिसमें अधिकतर जवान हैं. हमारे प्रधानमंत्री विदेशी दौरे में व्यस्त हैं जबकि रक्षा मंत्री पार्टी मामलों में फंसी हुई हैं. कहा जा रहा था कि प्रधानमंत्री के विदेश दौरे से देश की छवि दुनिया भर में सुधरी है लेकिन कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट के बाद उनकी छवि को धक्का लगा है.

इससे पहले शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को निशाना बनाने के माओवादियों के षड्यंत्र को हास्यास्पद करार दिया था और कहा था कि यह षड्यंत्र तर्कसंगत प्रतीत नहीं होता और किसी डरावनी फिल्म की कहानी लगता है. शिवसेना ने तंज कसते हुए कहा था कि हाई प्रोफाइल नेताओं को व्यापक सुरक्षा कवर मुहैया कराई जानी चाहिए भले ही लोखों लोग नक्सली हमले में क्यों नहीं मारे जा रहे हों.

शिवसेना ने पार्टी के मुखपत्र सामना में कहा था कि उन्हे सुरक्षा दी जानी चाहिए. यह ठीक है कि लाखों लोग मर जाएं (नक्सली हमले में) लेकिन उन्हें जिंदा रहना चाहिए. शिवसेना ने दावा किया था कि मोदी की सुरक्षा मोसाद (इस्राइल की खुफिसा एजेंसी) जैसी मजबूत है और किसी के लिए भी इसे भेदना लगभग असंभव है.