नई दिल्ली: सरकार ने बताया कि राज्यों की भागीदारी के साथ देश में जल जीवन मिशन शुरू किया गया है जिसका लक्ष्य 2024 तक घरेलू नल कनेक्शन के तहत प्रत्येक ग्रामीण परिवार को 55 लीटर प्रति व्यक्ति प्रतिदिन पेयजल उपलब्ध कराना है. Also Read - केंद्र सरकार ने राज्यों के लिए कोविड-19 आपात पैकेज को दी मंजरी 

लोकसभा में जल शक्ति राज्य मंत्री रतन लाल कटारिया ने गुरुवार को जनार्दन सिंह सीग्रीवाल के प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा, जल शक्ति मिशन के लिए कुल परिव्यय 3.60 लाख करोड़ रुपए है, जिसमें केंद्र की हिस्सेदारी 2.08 लाख करोड़ रुपए है. Also Read - अंबेडकर जयंती के मौके पर केंद्र सरकार ने की 14 अप्रैल को छुट्टी की घोषणा

जल शक्ति राज्य मंत्री ने कहा कि यह योजना राज्यों की भागीदारी के साथ शुरू की गई है, जिसका लक्ष्य 2024 तक घरेलू नल कनेक्शन के तहत प्रत्येक ग्रामीण परिवार को 55 लीटर प्रति व्यक्ति प्रतिदिन पेयजल उपलब्ध कराना है. Also Read - केंद्र सरकार को हाई कोर्ट का निर्देश, झारखंड को तत्काल दस हजार टेस्ट किट और 25 हजार पीपीई मुहैया कराएं

मंत्री ने कहा कि एक अप्रैल 2019 की स्थिति के अनुसार, देश में लगभग 17.87 करोड़ ग्रामीण परिवारों में से 3.27 करोड़ ग्रामीण परिवारों के पास नल कनेक्शन उपलब्ध थे और लगभग 14.60 करोड़ ग्रामीण परिवारों को नल से कनेक्शन उपलब्ध कराए जाने थे.