पुडुचेरी: मुख्यमंत्री एन रंगासामी ने दावा किया है कि केंद्र सरकार ने पुडुचेरी को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की मांग मान लेने का फैसला किया है. सीएम ने विधानसभा में ये बयान दिया है. बता दें कि अब तक पुडुचेरी केंद्र शासित प्रदेश में आता है. विधानसभा में 2021-22 के बजट पर बहस के दौरान सत्तापक्ष एवं विपक्ष के सदस्यों के इस संबंध में प्रश्नों का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ राज्य का दर्जा पुडुचेरी के लिए बिल्कुल आवश्यक है. ’’Also Read - किसानों के आंदोलन पर केंद्र और राज्य सरकारों को NHRC ने दिया नोटिस, ये है वजह

सीएम ने कहा कि राज्य के दर्जा के बगैर पुडुचेरी ने कई मुश्किलों का अहसास किया है , ऐसे में केंद्र ने पुडुचेरी को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की मांग को मान लेने का फैसला किया है. वैसे उन्होंने इसका ब्योरा नहीं दिया. Also Read - इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा- केंद्र सरकार गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करे, गौरक्षा हिन्दुओं का मौलिक अधिकार

उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता सेनानियों के लिए पेंशन के तौर पर राज्य सरकार की योजना के तहत दी जाने वाली मासिक सहायता भी 9000 रूपये से बढ़ाकार 10000 रूपये करने की घोषणा की. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने मेडिकल और इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों के लिए केंद्रीकृत प्रवेश समिति के मार्फत चुने गये विद्यार्थियों को ट्यूशन फीस का भुगतान करने से छूट प्रदान करने का फैसला किया है. Also Read - नीतीश कुमार का बड़ा बयान- यदि केंद्र सरकार न मानी, तो राज्य अलग से कराएंगे जाति जनगणना