नई दिल्ली: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने शनिवार को कहा कि हम कोरोनावायरस से बहुत बुरी तरह से प्रभावित अन्य विकसित देशों जैसी स्थिति होने की उम्मीद नहीं करते हैं, फिर भी हमने भारत को सबसे खराब स्थिति का सामना करने के लिए तैयार रखा है. Also Read - महाराष्‍ट्र में कोरोना से आज 85 मौतें के साथ अब तक करीब 2000 मृत, कुल 60 हजार पॉजिटिव केस

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि देश में हर दिन 95,000 लोगों का कोरोना टेस्ट हो रहा है. उन्होंने बताया कि अब तक 332 सरकारी और 121 निजी प्रयोगशालाओं में कुल 15,25,631 परीक्षण किए गए हैं. Also Read - ICC Meeting: टी20 विश्‍व कप 2020 के भविष्‍य को लेकर फैसला 10 जून तक स्‍थगित

हर्षवर्धन ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए, पूर्वोत्तर राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बातचीत के दौरान कोरोनावायरस संकट को दूर करने के लिए शमन प्रयासों पर कहा कि देश में मृत्यु दर लगभग 3.3 प्रतिशत है और कोरोनावायरस रोगियों के ठीक होने की दर 29.9 प्रतिशत तक पहुंच गई है और बहुत अच्छे संकेत हैं. Also Read - दिल्‍ली एम्स में अभी तक 195 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, 2 की जान गई

हर्षवर्धन ने कहा, “पिछले तीन दिनों से मामलों के दोगुना होने की दर लगभग 11 दिन रही है. पिछले सात दिनों से मामलों को दोगुना होने की दर 9.9 दिन रही है और पिछले 14 दिनों में यह आज 10.7 है .. हम अन्य विकसित देशों की तरह भारत के लिए सबसे खराब स्थिति होने का अनुमान नहीं करते हैं, फिर भी हमने पूरे देश को सबसे खराब स्थिति के लिए तैयार रखा है.”

हर्षवर्धन ने कहा कि वर्तमान में 843 अस्पताल कोरोना रोगियों के उपचार के लिए विशेष रूप से समर्पित हैं, जिनमें लगभग 1,65,991 बेड हैं. उन्होंने कहा कि देश भर में कोरोना मरीजों को समर्पित 1,991 स्वास्थ्य केंद्र हैं, जिनमें 1,35,643 बेड हैं. इनमें आइसोलेशन के साथ-साथ आईसीयू बेड भी शामिल हैं.

(इनपुट आईएएनएस)