नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजाधानी में बढ़ते कोरोना संकट के बीच कल यानी रविवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह दिल्ली के मुख्यमंत्री व उपराज्यपाल के साथ मीटिंग करेंगे. बता दें कि पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण से हुई 386 मौत के मामलों में से दिल्ली में सबसे अधिक 129 और महाराष्ट्र में 127 लोगों की मौत हुई. दिल्ली में संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और पहली बार शुक्रवार को दो हजार से ज्यादा मामले सामने आए. Also Read - Coronavirus In Delhi: दिल्ली में करीब 90 हजार लोग हुए स्वस्थ, 3371 लोगों की मौत

इसी को ध्यान में रखते हुए गृह मंत्री एक हाई लेवल मीटिंग करने जा रहे हैं. ये जानकारी गृह मंत्री कार्यालय द्वारा शनिवार को दी गई. गृह मंत्री कार्यालय ने कहा, “केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन दिल्ली में बने कोरोना हालातों की समीक्षा के लिए उपराज्यपाल अनिल बैजल और सीएम अरविंद केजरीवाल व SDMA के सदस्यों के साथ कल सुबह 11 बजे बैठक करेंगे.” इस मीटिंग में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे. Also Read - केजरीवाल ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, कहा- केंद्रीय विश्वविद्यालयों के अंतिम वर्ष की परीक्षाएं करें रद्द 

वहीं इस बीच राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस महामारी की स्थिति की गंभीरता को देखते हुए दिल्ली उच्च न्यायालय ने ‘आप’ सरकार और केंद्र को कोविड-19 रोगियों के लिये बिस्तर और वेंटिलेटर की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया है. उच्च न्यायालय ने कहा कि उसे उम्मीद है कि दिल्ली के अस्पताल कोविड-19 मरीजों के लिए बेड की उपलब्धता का वास्तविक डेटा अपलोड करेंगे. Also Read - बीजेपी का दावा- अमित शाह की वजह से दिल्ली में काबू में हुआ कोरोना, मोर्चा संभालने का हुआ असर

मुख्य न्यायाधीश डी एन पटेल और न्यायमूर्ति प्रतीक जलान ने यह निर्देश जारी किया. दरअसल, इससे पहले दिल्ली सरकार ने अदालत को बताया कि नौ जून तक शहर में कोविड-19 रोगियों के लिये 9,179 बिस्तर थे और इनमें से 4,914 बिस्तर भरे हुए हैं, जबकि शेष बिस्तर उपलब्ध हैं. दिल्ली सरकार ने पीठ से यह भी कहा कि कुल 569 वेंटिलेटर हैं, जिनमें से 315 का उपयोग किया जा रहा है, जबकि शेष उपलब्ध हैं.

पीठ ने 11 जून को जारी और शनिवार को उपलब्ध कराये गये अपने आदेश में कहा , ‘‘ स्थिति की गंभीरता पर विचार करते हुए, हमने प्रतिवादियों (केंद्र और दिल्ली सरकार) को कोविड-19 रोगियों के लिये बिस्तर की संख्या बढ़ाने तथा वेंटिलेटर की संख्या भी बढ़ाने का निर्देश दिया है, ताकि सभी जरूरतमंद संक्रमित रोगियों को ये सुविधाएं मिल सकें.’’

इसके अलावा व्यापारियों के प्रमुख संगठन कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने शनिवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल तथा मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को पत्र लिखकर इस मुद्दे पर विचार-विमर्श करने का आग्रह किया है.

बता दें कि देश में महज 10 दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले दो लाख से बढ़कर तीन लाख के पार हो गए हैं. एक दिन में सर्वाधिक 11,458 मामले सामने आने से शनिवार को संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 3,08,993 हो गए हैं, वहीं संक्रमण से 386 लोगों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 8,884 हो गई है.

देश में अब तक कुल 8,884 संक्रमितों की मौत हुई है जिनमें सर्वाधिक 3,717 लोगों की मौत महाराष्ट्र में, 1,415 लोगों की मौत गुजरात में, 1,214 लोगों की मौत दिल्ली में, 451 लोगों की मौत पश्चिम बंगाल में, 440 लोगों की मौत मध्य प्रदेश में, 367 की मौत तमिलनाडु में, 365 की मौत उत्तर प्रदेश में, 272 की मौत राजस्थान में और 174 लोगों की मौत तेलंगाना में हुई.

वहीं संक्रमण के सर्वाधिक 1,01,141 मामले महाराष्ट्र में है. तमिलनाडु में कोरोना वायरस के 40,698, दिल्ली में 36,824 , गुजरात में 22,527, उत्तर प्रदेश में 12,616 राजस्थान में 12,068 और मध्य प्रदेश में 10,443 मामले सामने आए हैं.