नई दिल्‍ली: राजस्‍थान में सरकार गिराने की कोशिश को लेकर तथाकथित वायरस हुए दो ऑडियो की जांच के सिलसिले में राजस्थान पुलिस के गठित स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप (SOG) ने केंद्रीय मंत्री मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को नोटिस भेजा है. एसओजी से मिले नोटिस पर केंद्रीय मंत्री शेखावत ने जांच एजेंसी से कुछ सवाल करते हुए पूछा है कि किसने ये ऑडियो रिकॉर्ड किया? किसकी इजाजत से इन्‍हें रिकॉर्ड किया गया. Also Read - UP: भाजपा ने पीएम मोदी के करीबी MLC एके शर्मा को प्रदेश उपाध्यक्ष बनाया, दो सचिवों की भी नियुक्ति की

केंद्रीय मंत्री शेखावत ने बताया कि राजस्थान पुलिस के विशेष संचालन समूह (एसओजी) ने मेरे निजी सचिव के माध्यम से एक नोटिस भेजा है. नोटिस में उन्होंने मुझे अपना बयान और आवाज का नमूना रिकॉर्ड करने के लिए कहा है. Also Read - Rahul Gandhi Birthday: राहुल गांधी 51 साल के हुए, बधाईयों का तांता, कांग्रेस मना रही 'सेवा दिवस'

केंद्रीय मंत्री शेखावत ने कहा, पहले मैं उन ऑडियो क्लिप्‍स की प्रमाणिकता चेक करना चाहूता हूं कि किसकी इजाजत से इन्‍हें रिकॉर्ड किया गया. किसने यह रिकॉर्ड किया. पहले उन्‍हें प्रमाणिकता से साथ आना चाहिए. मैं पहले ही कह चुका हूं कि मेरे दरवाजे किसी भी तरह की जांच के लिए खुले हैं.

बता दें किए कांग्रेस ने रविवार को केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार गिराने की साजिश से जुड़ी ऑडियो क्लिप में उनकी आवाज होने के कारण उनके पद पर बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं रह गया है. वहीं, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस ऑडियो क्लिप की प्रमाणिकता पर भाजपा द्वारा उठाये गए सवालों को खारिज करते हुए एक टीवी चैनल से कहा कि यदि ये ” मनगढ़ंत टेप” हैं तो वह राजनीति छोड़ने को तैयार हैं. इस ऑडियो में केंद्रीय मंत्री शेखावत की कथित तौर पर आवाज है.