दिल्ली। अरविंद केजरीवाल का मानहानी का केस लड़ रहे सीनियर एडवोकेट राम जेठमलानी ने अपनी फीस मांगी। लेकिन इतनी रकम न होने के चलते केजरीवाल इस मुकदमे की तीन करोड़ रुपये 86 लाख रुपये का भुगतान दिल्‍ली सरकार से करवाना चाहते हैं। लेकिन इस मामले ने राजनीतिक तूल पकड़ लिया और केजरीवाल घिरते नजर आ रहे हैं।

जनता के पैसो से फीस के वहन पर खिंचाई करते हुए केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने अरविंद केजरीवाल पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि ”कमाल का आदमी है ये तो। दिल्‍ली में, दिल्‍ली की जनता के पैसे पर इतनी मौज तो शायद मुगलों ने भी नहीं की होगी। सब मिलके केजरीवाल को प्रणाम कीजिए।

 

वहीं इस मामले में लालू प्रसाद यादव ने राम जेठमलानी को चाचा बताया और कहा कि चाचा के पास पैसो की क्या कमी है। उन्होंने हमसे एक पैसा नहीं लिया है। उन्होंने हमारे सारे केस मुफ्त लड़े हैं। यह भी पढ़ें: केजरीवाल को मानूंगा गरीब क्लाइंट, मुफ्त लड़ूंगा केस: जेठमलानी

 

गौरतलब है कि केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने साल 2015 में केजरीवाल के खिलाफ मानहानि का एक मुकदमा दर्ज कराया था। केजरीवाल ने जेटली पर आरोप लगाया था कि दिल्ली एंड डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) का अध्यक्ष रहने के दौरान उन्होंने अनियमितताएं बरतीं, जिसके बाद जेटली ने यह मामला दर्ज कराया था।