पुणेः केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर(Union Minister Prakash Javadekar) ने शनिवार को कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा उठाए सुरक्षा के कड़े कदमों के कारण पिछले छह वर्षों में देश में एक भी बम विस्फोट नहीं हुआ. जावड़ेकर यहां बी जे मेडिकल कॉलेज में ‘जन औषधि दिवस’ के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. बाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Prime Minister Narendra Modi) ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जनसभा को संबोधित किया. Also Read - पीएम मोदी ने ब्राजील के राष्ट्रपति से की फोन पर बात, कोरोना संकट से निपटने को लेकर हुई चर्चा

जावड़ेकर ने अपने भाषण में स्वास्थ्य से जुड़ी कई योजनाओं का जिक्र किया और कहा कि गरीबों को किफायती स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं मुहैया कराना प्रधानमंत्री का ‘मंत्र’ है. सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा, ‘‘मोदी जी द्वारा दवाइयों, स्टेंट्स और प्रतिरोपण के दाम कम करना, जन औषधि दुकानें खोलना, आयुष्मान भारत योजना और बीमारियों को दूर भगाने के लिए योग तथा फिट इंडिया अभियान चलाने जैसे प्रयास और विभिन्न योजनाएं गरीबों के लिए उनकी चिंता को दिखाती हैं.’’ Also Read - Covid-19: कोरोना वायरस को लेकर पीएम मोदी की बड़ी बैठक, आवश्यक चिकित्सा उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित करने का दिया निर्देश

उन्होंने कहा कि 2014 में मोदी सरकार के सत्ता में आने से पहले देश में आए दिन विभिन्न शहरों में बम धमाके होते रहते थे. उन्होंने कहा, ‘‘मोदी सरकार के सत्ता में आने से पहले 10-25 वर्षों तक हमने क्या देखा? हमने पुणे, वडोदरा, अहमदनगर, दिल्ली और मुंबई में बम धमाके देखे. हर आठ से दस दिनों में धमाके होते थे और लोग मारे जाते थे. लेकिन पिछले छह वर्षों में धमाके की एक भी घटना नहीं हुई.’’ जावड़ेकर ने कहा, ‘‘यह ऐसे ही नहीं हुआ बल्कि प्रधानमंत्री द्वारा उठाए कुछ कड़े कदमों की बदौलत हुआ ताकि देश की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सकें.’’ Also Read - BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली के साथ बैठक करेंगे PM नरेंद्र मोदी; कोहली-तेंदुलकर के शामिल होने की उम्मीद