लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सत्ता बदलते ही राम मंदिर पर एक बार फिर सियासी बयान तेज हो गए हैं। इस बार राम मंदिर को लेकर केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने बड़ा बयान दिया है। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा कि यह उनकी आस्था का विषय है और इसके लिए उन्हें जेल भी जाना पड़े तो मुझे कोई परवाह नहीं।

उमा भारती ने इस मुद्दे पर कहा कि, ‘राम मंदिर मेरी आस्था का विषय है। मेरे विश्वास का विषय है। मुझे इस पर गर्व है, अगर जेल भी जाना पड़े तो जाउंगी, फांसी पर लटकना पड़े तो लटक जाउंगी।’

पूछे गए एक सवाल में उमा भारती ने कहा कि, ‘राम मंदिर पर हमें बात करने की जरूरत कहां रहती है। इस विषय पर हम (योगी और उमा) अजनबी नहीं हैं। योगी जी के गुरू महंत अवैद्यनाथ राम मंदिर आंदोलन के पुरोधा थे।’ यह भी पढ़ें: सीएम बनने के बाद योगी का पहला इंटरव्यू, कही ये बड़ी बातें

 

इसके बाद उमा ने कहा कि मामला कोर्ट में लंबित है सलिए वह ज्यादा नहीं बोलेंगी लेकिन खुद न्यायालय का कहना है कि मामले का हल अदालत से बाहर भी हो सकता है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा कि उनका मुख्यमंत्री बनना युग परिवर्तन है। प्रदेश की जनता में उनसे खुश है। वह मजबूत इरादों वाले व्यक्ति हैं। इससे पहले भी हम बतौर सांसद उनकी प्रशासनिक क्षमता को देख चुके हैं।