PM Boris Johnson cancels India Visit on 26th January: ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन 26 जनवरी को भारत दौरे पर नहीं आएंगे. बता दें कि जॉनसन ने गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि बनने के लिए भारत के आमंत्रण को स्वीकार कर लिया था. हालांकि अब उन्होंने अपने भारत दौरे को कैंसिल कर दिया है. Also Read - Covid-19 New Cases: देश में करीब 10 हजार नए केस आए, एक्‍ट‍िव मरीज लगभग 2 लाख

यूनाइटेड किंगडम सरकार ने जॉनसन की यात्रा कैंसिल होने के बारे में जानकारी देते हुए कहा, “यूनाइटेड किंगडम के प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन ने आज सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की, ताकि वे खेद व्यक्त कर सकें कि वह इस महीने के अंत में भारत की यात्रा करने में असमर्थ होंगे.” Also Read - Chinese village in Arunachal! चीन ने तीन महीनों के अंदर अरुणाचल प्रदेश में बसा दिया गांव? भारत ने दिया ये जवाब

ब्रिटिश सरकार ने कहा, “कल रात घोषित राष्ट्रीय लॉकडाउन और नए प्रकार के कोरोना वायरस की फैलने की गति को ध्यान में रखते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि उनके लिए यूके में रहना महत्वपूर्ण है, ताकि वह वायरस पर घरेलू प्रतिक्रिया पर ध्यान केंद्रित कर सकें.” Also Read - ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने G7 शिखरवार्ता के लिए प्रधानमंत्री मोदी को भेजा न्योता, भारत को बताया ‘दुनिया की फार्मेसी’

प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि वह 2021 की पहली छमाही में भारत का दौरा करने में सक्षम होने की उम्मीद करते हैं. उन्होंने कहा कि यूके में होने वाले जी7 शिखर सम्मेलन में बतौर गेस्ट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आने से पहले वे खुद की भारत यात्रा की उम्मीद करते हैं.

बता दें कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कोरोनावायरस के कारण इंग्लैंड में एक और लॉकडाउन की घोषणा कर दी है. महामारी शुरू होने के बाद इंग्लैंड में यह तीसरा लॉकडाउन है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने बताया कि लॉकडाउन मंगलवार सुबह 12 बजे से लागू हुआ. माना जा रहा है कि जॉनसन की भारत यात्रा रद्द होने के पीछे ब्रिटेन में लगातार बढ़ रहे कोरोना के नए मामलों को माना जा रहा है.

सोमवार को टेलिविजन पर दिए गए अपने संबोधन में जॉनसन ने देश भर के लोगों से आग्रह किया कि केवल उन कारणों के लिए घर से बाहर निकलें, जिनकी अनुमति सरकार ने दी है. ब्रिटेन में अभी हाल ही में एक नए प्रकार का कोरोना वायरस पाया गया है जिसकी फैलने की क्षमता 70 प्रतिशत अधिक है.