Unlock 4.0 Latest News: कोरोना वायरस लॉकडाउन के बाद से देश इस समय अनलॉक के तीसरे चरण में है और अभी भी कई तरह के प्रतिबंध लागू हैं ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके. अनलॉक के चौथे चरण में सबसे ज्यादा लोग इस बात की उम्मीद कर रहे हैं कि क्या अब सरकार एक सितंबर से स्कूल को दोबारा खोलेगी ताकि फिर से बच्चों की पढ़ाई शुरू हो सके. पिछले छह महीनें कोरोना वायरस की वजह से स्कूल कॉलेज सहित सभी एजूकेशनल इंस्टीट्यूट बंद पड़े हैं. उम्मीद है कि अनलॉक 4 से देश के सभी हिस्सों में फिर से स्कूल कॉलेज शुरू हो जाएंगे. Also Read - Schools Colleges Reopening News: इन राज्यों में 21 सितंबर से खुलेंगे स्कूल और यहां रहेंगे बंद, पैरेंट्स की होगी ये जिम्मेदारी

स्कूल कॉलेज के साथ ही कोरोना वायरस की वजह से अभी भी ट्रेन सेवाएं भी पूरी तरह से संचालित नहीं की गईं. देश के कुछ शहरों से ही अभी ट्रेन सेवाएं चालू हैं. दिल्ली की लाइफ लाइन कही जानें वाली मेट्रो ट्रेन को लेकर अभी अभी तक संशय बना हुआ है. सरकार की तरफ से अभी किसी भी तरह की स्पष्ट जानकारी नहीं दी गई कि अनलॉक चार में किन किन सेवाओं पर राहत दी जाएगी और किन किन पर अभी भी प्रतिबंध जारी रहेगा. कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए मार्च में मेट्रो सेवाएं निलंबित कर दी गयी थी. Also Read - School Reopening: वायरस से बचाव के लिए किए जा रहे ये उपाय, कितने सफल होंगे?

एक सितंबर से शुरू हो रहे लॉकडाउन में छूट के चौथे चरण ‘अनलॉक 4’ में सरकार द्वारा मेट्रो ट्रेन सेवाओं को परिचालन की अनुमति दिये जाने की संभावना है लेकिन स्कूलों और कॉलेजों के निकट भविष्य में खुलने की संभावना नहीं है. Also Read - Corona in Delhi: Unlock 4.0 में दिल्ली में में बिगड़े हालात, एक दिन में कोरोना के 4,473 नए मामले, कंटेनमेंट जोन की भी बढ़ी संख्या

स्कूल और ट्रेन सेवा के साथ और कई बड़े बदलाव हमें 1 सितंबर के बाद देखने को मिल सकते हैं. अनलॉक 4.0 के साथ ही बार संचालकों को भी अपने काउंटर पर शराब बेचने की अनुमति दी जा सकती है लेकिन यह इजाजत ग्राहकों द्वारा उसे घर ले जाने के लिए होगी, मतलब अभी भी बार में बैठकर शराब पीना पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा.

सूत्रों की मानें तो अभी भी स्कूल और कॉलेज तत्काल नहीं खोल जाएंगे. सरकार इस मामले पर कोई भी जल्दबाजी नहीं करना चाहती क्योंकि यह मामला पूरी तरह से बच्चों के स्वास्थ्य और भविष्य पर असर डालेगा. इस पर गहन विचार-विमर्श चल रहा है कि विश्वविद्यालय, आईआईटी और आईआईएम जैसे उच्च शिक्षण संस्थानों को खुलने की अनुमति दी जाए या नहीं.

देशभर में निषिद्ध क्षेत्रों में लॉकडाउन सख्ती से बना रहेगा. फिलहाल मेट्रो रेल सेवाएं, सिनेमाघर, स्वीमिंग पूल, मनोरंज पार्क, थियेटर, बार , ऑडिटोरियम, अन्य सभागार और ऐसे अन्य स्थान प्रतिबंधित गतिविधियों के अंतर्गत हैं. अगले महीने सामाजिक, राजनीतिक गतिविधियां, खेलकूद, मनोरंजन,अकादमिक, सांस्कृतिक, धार्मिक कार्यक्रम एवं अन्य समागम पर पाबंदी बने रहने की संभावना है. एक जून से लॉकडाउन में छूट की ‘अनलॉक’ की प्रक्रिया शुरू हुई थी.

एक अन्य अधिकारी का कहना था कि सिनेमाघरों को एक सितंबर से खुलने की अनुमति देने की संभावना करीब-करीब नहीं है क्योंकि फिल्मकारों या सिनेमाघर मालिकों के लिए एक दूसरे से दूरी बनाकर चलने के नियम का अनुपालन करते हुए अपना कारोबारी काम करना वाणिज्यिक रूप से व्यावहारिक नहीं होगा.

अनलॉक 4 के दिशानिर्देशों में केंद्र सरकार केवल प्रतिबंधित गतिविधियों का जिक्र करेगी, बाकी बहाल हो सकते हैं. अधिकारी के अनुसार राज्य सरकारें उन अतिरिक्त गतिविधियों पर अंतिम निर्णय ले सकती हैं जिन पर अनलॉक 4 के दौरान भी पाबंदी जारी रहे. अनलॉक 4 के दिशानिर्देश इस सप्ताह के आखिर तक जारी किये जा सकते हैं.