Unnao Gangrape Victim Health Update: अप्रैल, 2018 में देश भर में चर्चा का विषय बना उत्तर प्रदेश का उन्नाव रेप कांड (Unnao Rape Case) एक बार फिर चर्चा में है. रायबरेली में सड़क हादसे का शिकार हुई रेप पीड़िता (Unnao Rape Case Victim) की चाची और मौसी की मौत हो चुकी है. दुर्घटना को हत्या की साजिश बताया जा रहा है. राष्ट्रीय स्तर पर तूल पकड़ रहे इस मामले में पहले तो यूपी पुलिस (UP Police) ने टालमटोली की, लेकिन दबाव बढ़ने पर जेल में बंद रेप के आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Sengar) सहित 10 के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.Also Read - BJP ने गठबंधन का ऐलान किया, अपना दल और निषाद पार्टी के साथ मिलकर UP विधानसभा का चुनाव लड़ेगी

Also Read - Narendra Giri Death Case: महंत नरेंद्र गिरि की मौत की होगी CBI जांच, योगी सरकार ने की सिफारिश

एक ओर कानूनी और राजनीतिक जद्दोजहद चल रही है. मामला फिर से गरमा गया है. वहीं, दूसरी ओर लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल (KGMC) में रेप पीड़िता की हालत बेहद नाजुक है. और वह ज़िंदगी और मौत से जूझने के हालात में पहुंच गई है. रेप पीड़िता का एक पैर फ्रैक्चर है. उसके सिर में गंभीर चोटें लगी हैं. मल्टीपल फ़्रैक्चर हैं. वह लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर है. रेप पीड़िता के वकील की हालत भी बेहद नाजुक है. उन्हें भी लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है. किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल के ट्रॉमा सेंटर के मीडिया इंचार्ज संदीप तिवारी ने बताया कि दोनों घायलों को वेंटिलेटर पर रखा गया है. हालत नाजुक है. Also Read - योगी आदित्यनाथ ने कहा- यूपी में जनसंख्या नियंत्रण कानून 'सही समय' पर आएगा, जो करेंगे नगाड़ा बजाकर करेंगे

रेप पीड़िता के एक्सीडेंट पर कुमार विश्वास का ट्वीट, ‘वरना देश पर गर्व तो दूर यहां जीना भी दूभर होगा’

वहीं, रेप पीड़िता के परिजनों से मिलने लखनऊ पहुंची दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल (Swati Maliwal) ने इस मुद्दे को बेहद जोर-शोर से उठाया है. स्वाति ने बताया कि रेप पीड़िता की हालत ठीक नहीं है. उनकी डॉक्टर्स से बात हुई है. डॉक्टर्स का कहना है कि रेप पीड़िता को एयरलिफ्ट कर दिल्ली ले जाए जाने की जरूरत है. दिल्ली के किसी बड़े अस्पताल में इलाज की ज़रूरत है. स्वाति ने बताया कि उन्होंने उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) से मांग की है कि पीड़िता को एयरलिफ्ट कराया जाए.

उन्नाव रेप पीड़िता के साथ ‘हादसे’ पर अखिलेश ने सरकार से पूछा- एक बेटी की क्यों उजड़ी दुनिया, ऐसे होगा न्याय?

इसके साथ ही स्वाति ने बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की विधायकी भी रद्द करने की मांग की है. उन्होंने कहा कि कुलदीप सिंह सेंगर को पार्टी से भी निकाला जाना चाहिए. सुप्रीम कोर्ट इस मामले को संज्ञान ले और जल्द से जल्द सुनवाई कर कड़ी से कड़ी सजा दी जाए. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ स्वाति मालीवाल ने कहा कि अगर इस लड़की की जान चली गई तो ये पूरे देश की निर्भयाओं और हम सब के मुंह पर तमाचा होगा.

उन्नाव रेप पीड़िता के साथ सड़क हादसा: बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज

ये है पूरा मामला

बीते दिन रेप पीड़िता अपनी मां, वकील, चाची और मौसी के साथ रायबरेली जा रही थी, तभी एक ट्रक में उनकी कार की ट्रक से टक्कर हो गई. चाची व मौसी की मौत हो गई. इस घटना को साजिश माना जा रहा है. जिस ट्रक ने टक्कर मारी, उसकी नंबर प्लेट से छेड़छाड़ की गई थी. बता दें कि अप्रैल, 2018 में उन्नाव के बांगरमऊ के बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर एक युवती ने रेप का आरोप लगाया था. ये मामला तब सुर्ख़ियों में आया था जब पीड़िता के पिता की पिटाई से मौत हो गई और पीड़िता ने लखनऊ में सीएम आवास के बाहर आत्मदाह का प्रयास किया. इसके बाद चले घटनक्रम के बाद बीजेपी विधायक इस समय जेल में है. बीजेपी विधायक को पार्टी से निकाले जाने की मांग होती रही, लेकिन अब तक न तो विधायकी गई और न ही पार्टी से सदस्यता.