नई दिल्ली:उन्नाव रेप केस के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को उत्तर प्रदेश की सीतापुर जेल से दिल्ली लाया गया है. सोमवार को सेंगर को दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में पेश किया जाना है. कैदियों वाले वाहन में लाए गए विधायक सेंगर को इस दौरान चलते चलते मीडिया से बात करने का मौका मिल गया. सेंगर ने इस पूरे मामले को साजिश बताया है. इसके साथ ही एक्सीडेंट में गंभीर रूप से घायल होने के बाद ज़िन्दगी और मौत से जूझ रही रेप पीड़िता के ठीक होने की कामना करने की बात विधायक ने कही.

विधायक इसी रेप पीड़िता से रेप के बाद जेल में है. रेप पीड़िता की कार का कुछ दिन पहले एक्सीडेंट हुआ. जिसमें वह और उसका वकील बेहद गंभीर हालत में हैं, जबकि इस हादसे में दो लोगों की मौत हो गई थी. ये दुर्घटना कराने का आरोप भी विधायक पर ही है. उसके खिलाफ हत्या का मुकदमा भी दर्ज किया गया है. आज विधायक सेंगर ने कहा कि ‘मैं तो बीजेपी का कार्यकर्ता था और मैं जिस दल में रहता हूं बहुत ईमानदारी से रहता हूं. मुझे सब पर भरोसा है. सब राजनीतिक साजिश है. मेरी भगवान से कामना है कि वो (उन्नाव रेप पीड़िता और उसका वकील) ठीक हो जाएं.’

उन्नाव रेप पीड़िता की हालत खराब, 7 दिन बाद भी नहीं आया होश, गले में छेद कर दी जा रही ऑक्सीजन

इससे पहले उन्नाव बलात्कार पीड़िता के दुर्घटना मामले में सीबीआई ने भाजपा के निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और अन्य आरोपियों के घरों पर छापे मारे. अधिकारियों ने रविवार को बताया कि उत्तर प्रदेश के चार जिलों लखनऊ, बांदा, उन्नाव, फतेहपुर में करीब 17 स्थानों पर छापे मारे गए. इन जिलों में अन्य आरोपियों के परिसरों में छापेमारी की. उन्नाव बलात्कार पीड़िता दुर्घटना मामले में सीबीआई ने सेंगर, नौ अन्य और 15-20 अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है.

गौरतलब है कि 30 जुलाई को रायबरेली में एक तेज रफ्तार ट्रक ने बलात्कार पीड़िता की कार को टक्कर मार दी थी. हादसे में पीड़िता के परिवार के दो सदस्यों की मौत हो गई. पीड़िता और उसका वकील गंभीर रूप से घायल हैं. भाजपा के निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर चार जून 2017 को पीड़िता का अपने घर में बलात्कार करने का आरोप है. पीड़िता को उचित सुरक्षा प्रदान ना करने को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार के आलोचनाओं में घिरने के बाद बाद भाजपा ने पिछले सप्ताह सेंगर को निष्कासित कर दिया था.