नई दिल्लीः प्रौद्योगिकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी एप्पल ने दिल्ली की एक अदालत से बुधवार को कहा कि भाजपा से निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के मोबाइल फोन ‘लोकेशन’ का उस दिन का ब्योरा उसके पास नहीं है, जिस दिन उन्नाव में 17 वर्षीय लड़की से कथित तौर पर बलात्कार हुआ था. एप्पल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के वकील ने अदालत से कहा कि सेंगर जिस आईफोन का इस्तेमाल कर रहे थे, उसके ‘लोकेशन’ से जुड़ी जानकारी उसके (कंपनी के) पास नहीं है. मामले से जुड़े वकीलों ने यह जानकारी दी.

बंद कमरे में हो रही सुनवाई के दौरान एप्पल के वकील ने जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा के समक्ष यह जानकारी दी. उल्लेखनीय है कि 29 सितंबर को अदालत ने कंपनी से दो हफ्ते में संबद्ध जानकारियां शपथपत्र के साथ मुहैया करने का आदेश दिया था. गौरतलब है कि सेंगर पर 2017 में एक नाबालिग लड़की से दुष्कर्म करने का आरोप है.

आर्टिकल 370 हटने के बाद हिरासत में लिए गए तीन नेताओं को जम्मू-कश्मीर प्रशासन आज करेगा रिहा

एक सड़क हादसे में घायल पीड़िता का दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स)में इलाज चल रहा है. आपको बता दें कि इस मामले में अदालत पहले ही विधायक के खिलाफ आरोप तय कर चुकी है. पीड़िता के पिता को पुलिस ने अप्रैल में एक मामले में गिरफ्तार किया था जहां उनकी छह दिन बाद मौत हो गई थी. दिल्ली की एक स्थानीय कोर्ट ने भी शनिवार को उन्नाव रेप पीड़िता की मां से पूछतांछ की थी. इससे पहले एप्पल कंपनी के वकील ने कहा था कि अभी हमें इस बात की जानकारी नहीं है कि उस दिन का डिटेल कंपनी के पास है या नहीं.