लखनऊ: उत्तर प्रदेश पुलिस ने सीतापुर जेल कर्मियों का कथित तौर पर रिश्वत लेते हुए एक वीडियो वायरल होने के बाद शुक्रवार को इस मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं. इस जेल में उन्नाव बलात्कार कांड के आरोपी कुलदीप सेंगर बंद हैं. पुलिस महानिदेशक (जेल) आनंद कुमार ने यहां कहा, ‘मैंने वीडियो नहीं देखा है लेकिन यह बात मेरे संज्ञान में आयी. हम इस मामले की जांच करवायेंगे और कड़ी कार्रवाई की जाएगी, अगर कोई पुलिसकर्मी ऐसा करता पाया गया तो उसे बर्खास्त कर दिया जाएगा.’ Also Read - 22 साल की लड़की को खोजने के लिए यूपी पुलिस ने मांगे 1 लाख रुपए, शख्स ने कर ली सुसाइड

Also Read - Extra Marital Affair: गांव के ही युवक के साथ पत्नी का चल रहा था प्रेम प्रसंग, समझाने के बाद भी नहीं मानी तो पति ने...

उन्‍नाव रेप व‍िक्‍ट‍िम के हादसे की जांच 7 दिन में हो, 25-25 लाख रुपए दे यूपी सरकार: SC Also Read - Sarkari Naukri UPPRPB Recruitment 2021 यूपी पुलिस में इन पदों पर निकली बंपर वैकेंसी, जल्द करें आवेदन, मिलेगी अच्छी सैलरी

सीतापुर जेल के बाहर का एक वीडियो सामने आया है जिसमें कुर्ता-पायजामा पहने एक व्यक्ति बाहर आकर एक पुलिसकर्मी को कुछ देते हुए नजर आ रहा है. इस व्यक्ति की पहचान रिंकू शुक्ला के रूप में हुई है और यह उन्नाव जिला पंचायत का सदस्य है तथा सेंगर का करीबी माना जाता है.

सड़क हादसे के बाद बेहद खराब है उन्नाव रेप पीड़िता की हालत, पैर फ्रैक्चर, सिर में हैं गहरी चोटें

वीडियो के दूसरे हिस्से में मोटरसाईकिल पर सवार होकर आया एक युवक किसी से विधायक से मिलवाने की बात कहते हुए सुनाई दे रहा है जिस पर वह व्यक्ति कह रहा है कि अभी सख्ती है बाद में आना. रिंकू शुक्ला से जब पत्रकारों ने पूछा तो उन्होंने कहा कि सेंगर से मिलने के लिये उनका इरादा पुलिसकर्मियों को घूस देने का नहीं था, शुक्ला ने कहा, ‘यह मेरी आदत है जब मैं जेल मिलने जाता हूं तो उन्हें (पुलिसकर्मियों) को चाय-पानी के लिये कुछ दे देता हूं, यह रिश्वत नहीं है, मैं दस पन्द्रह दिन पहले सेंगर से मिला था क्योंकि वह मेरे विधायक हैं, मैं भाजपा से जुड़ा हुआ नहीं हूं.’

रेप पीड़िता के एक्सीडेंट पर कुमार विश्वास का ट्वीट, ‘वरना देश पर गर्व तो दूर यहां जीना भी दूभर होगा’