नई दिल्लीः उन्नाव में रेप पीड़िता का शव परिवार वालों के पास पहुंच चुका है और आज दोपहर तक अंतिम संस्कार किया जाएगा, लेकिन पीड़िता का परिवार और परिजन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बुलाने की मांग पर अड़ा हुआ है. एसपी और डीएम ने परिवार वालों को काफी समझाने की कोशिश की और उनसे यह भी कहा कि आप लखनऊ चलिए हम आपकी सीएम से मुलाकात करा देंगे लेकिन परिवार अपनी जिद पर अड़ा हुआ है. परिवार ने यह भी कहा कि जब तक मुख्यमंत्री नहीं आएंगे तब तक हम बेटी का अंतिम संस्कार नहीं करेंग.

परिवार वालों का कहाना है कि हमें सीएम से बहुत कुछ कहना है और हमें उनसे इस बात का आश्वासन चाहिए कि हमारी बेटी ने जो आखिरी इच्छा जाहिर कि थी कि आरोपियों को फांसी की सजा मिले तो क्या वो उन्हें मिलेगी. वहीं परिवार वाले यह भी कह रहे हैं कि हमें सरकार की तरफ से जो राशि प्रदान की गई है वह वापस ले ले लेकिन सीएम हमसे यहां आकर मुलाकात करें.

उन्नाव की बहादुर बेटी हारी जिंदगी की जंग, भाई को बुलाकर कहा था अगर मैं मर जाती हूं तो..

पीड़िता की बहन ने लखनऊ जाकर सीएम से मिलने से इनकार कर दिया है. पीड़िता की बहन ने कहा कि हम योगी जी से मांग करते हैं कि वह यहां आएं और तुरंत फैसला करें. पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस प्रशासन ने इस मामले में बहुत लापरवाही की है.

पीड़िता के भाई का कहना है कि गांव में घर के सामने ही बहन के शव को दफनाएंगे. पीड़िता की समाधि बनाई जाएगी. वहीं, मृतका का पिता का कहना है कि आरोपियों को हैदराबाद के अभियुक्तों की तरह सजा देनी चाहिए. गौरतलब है कि हैदराबाद में महिला डॉक्टर का गैंगरेप के बाद उसकी हत्या करने वाले अभियुक्तों को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया था.