लखनऊ: सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल उन्नाव बलात्कार पीड़िता और उसके वकील की हालत शनिवार को सातवें दिन भी गंभीर बनी हुई है. पीड़िता को निमोनिया हो गया है और वह वेंटिलेटर पर है जबकि वकील को वेंटिलेटर से तो हटा लिया गया है लेकिन उसकी हालत अब भी गंभीर है. किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रामा सेंटर के प्रभारी डॉ संदीप तिवारी ने बताया, ‘पीड़िता अब भी वेंटिलेटर पर है. उसे निमोनिया हो गया है जिससे उसको बुखार आ रहा है. उसे ब्लडप्रेशर नियमित करने की दवा भी दी जा रही है. Also Read - UP Zila Panchayat Chunav 2021: बीजेपी ने कुलदीप सिंह सेंगर की पत्‍नी संगीता सेंगर का टिकट किया कैंसिल

Also Read - उन्नाव रेप पीड़िता के पिता की हिरासत में हत्या के मामले में कुलदीप सेंगर को 10 साल की सजा

उन्नाव रेप कांडः आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर के तीनों हथियारों का लाइसेंस रद्द Also Read - सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने सीएम योगी पर बोला हमला, कहा- कुलदीप सिंह सेंगर को बचाने में जुटीं है सरकार

पीड़िता के गले में छोटा सा छेद करके (ट्रैकियोस्टोमी) ट्यूब द्वारा आक्सीजन दी जा रही है, उसे अभी तक होश नहीं आया है और डाक्टरों की टीम 24 घंटे उसकी निगरानी कर रही है.’ उन्होंने बताया कि घायल वकील महेंद्र सिंह को वेंटिलेटर से तो हटा दिया गया है लेकिन उसकी हालत गंभीर है. उसके सिर में चोट लगी है और उसे भी गले में छोटा सा छेद करके (ट्रैकियोस्टोमी) ट्यूब द्वारा आक्सीजन दी जा रही है.

उन्नाव रेप पीड़िता के साथ ‘हादसे’ पर अखिलेश ने सरकार से पूछा- एक बेटी की क्यों उजड़ी दुनिया, ऐसे होगा न्याय?

उन्होंने कहा कि जब कोई भी मरीज चार दिन से ज्यादा वेंटिलेटर पर रहता है तो उसे आक्सीजन देने के लि ट्रैकियोस्टोमी विधि का इस्तेमाल किया जाता है इससे पर्याप्त आक्सीजन भी मरीज को मिलती रहती है और फेंफडों आदि की सफाई करने में भी आसानी होती है. डॉ. तिवारी ने कहा,‘कॉलेज के चिकित्सकों का दल पीड़िता और उसके वकील का इलाज करने में पूरी तरह से समर्थ है और केजीएमयू के सबसे अच्छे डाक्टरों की टीम दोनों का इलाज कर रही है.’ उन्होंने कहा कि रोगियों के परिजन की भी यही इच्छा है कि इन दोनों का इलाज लखनऊ में ही कराया जायें .

सड़क हादसे के बाद बेहद खराब है उन्नाव रेप पीड़िता की हालत, पैर फ्रैक्चर, सिर में हैं गहरी चोटें