नई दिल्ली: उन्नाव रेप पीड़िता के साथ हुए सड़क हादसे के बाद बांगरमऊ (उन्नाव) से बीजेपी विधायक (BJP MLA) कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Sengar) व भाई मनोज सिंह सेंगर के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है. इनके साथ ही हादसे से जुड़े अन्य आठ लोगों पर भी मुकदमा दर्ज किया गया है. सड़क हादसे में रेप पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी. जबकि रेप पीड़िता और वकील की हालत बेहद नाजुक है. इन दोनों की लखनऊ के केजीएमसी हॉस्पिटल में लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है.

उन्नाव रेप पीड़िता के साथ ‘हादसे’ पर अखिलेश ने सरकार से पूछा- एक बेटी की क्यों उजड़ी दुनिया, ऐसे होगा न्याय?

रायबरेली में रेप पीड़िता (Unnao Rape Case Victim) की कार को एक ट्रक ने टक्कर मार दी थी. ट्रक की नंबर प्लेट से छेड़छाड़ की गई थी. यूपी पुलिस ने पहले इसे बारिश के कारण महज दुर्घटना बताया और ये भी कहा कि अगर रेप पीड़िता का परिवार चाहे तो वह हादसे की सीबीआई जांच कराने को तैयार है. इसी बीच रेप पीड़िता के परिजनों ने विधायक, उनके भाई और अन्य 8 के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करा दिया है. रेप के मामले को लेकर कुलदीप सिंह सेंगर पहले से ही जेल में बंद हैं. इस मामले के बाद उनकी मुश्किलें और बढ़ती नजर आ रही हैं.

यूपी सरकार उन्‍नाव रेप पीड़ि‍ता के रोड एक्‍सीडेंट की सीबीआई जांच कराने को तैयार: डीजीपी

दुर्घटना के बाद इस मामले पर राजनीति गरमा गई है. दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल पीड़िता से मिलने लखनऊ पहुंचीं. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि रेप पीड़िता के पिता को मार डाला गया. कुछ लोग जेल में हैं. सड़क हादसे में परिवार के दो लोगों की मौत गई. पीड़िता और उसका वकील ज़िन्दगी और मौत से जूझ रहा है, इसके लिए कौन जिम्मेदार है. एक बेटी जो न्याय मांग रही है, उसे ऐसे कैसे न्याय मिलेगा. अखिलेश के साथ ही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, बसपा प्रमुख मायावती ने भी निशाना साधा है.

रेप पीड़िता के एक्सीडेंट पर कुमार विश्वास का ट्वीट, ‘वरना देश पर गर्व तो दूर यहां जीना भी दूभर होगा’