Corona Virus in Agra: कोरोना वायरस (Corona Virus) के चलते उत्तर प्रदेश का आगरा सबसे मुश्किल में है. कोरोना के मामले में आगरा यूपी का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बना हुआ है और प्रदेश में सबसे ज्यादा मरीज इसी शहर में है. ऐसे में इंतजामों से नाखुश ताज नगरी आगरा के मेयर नवीन जैन ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से भावुक अपील की है. नवीन जैन ने सीएम को भावुक पत्र लिखते हुए कहा है कि मेरे शहर आगरा को वुहान बनने से बचा लीजिये. मैं बहुत दुखी मन से कह रहा हूं. आपके सामने हाथ जोड़ रहा हूं. मेयर ने कहा कि व्यवस्थाएं बिलकुल भी ठीक नहीं हैं. और आगरा भारत का वुहान बन सकता है. बता दें कि उत्तर प्रदेश में अब तक करीब 1800 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 26 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, आगरा में करीब 350 मामले सामने आए हैं. और आठ लोगों की मौत हो चुकी है. Also Read - कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में सैमसंग 50 लाख डॉलर देगा, पेटीएम 13 शहरों में आक्सीजन प्लांट लगाएगा

मेरे आगरा को बचा लीजिए, बचा लीजिए
शहर में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने का दावा करते हुए मेयर नवीन जैन ने शहर में कोरोना की स्थिति और जिला प्रशासन की लचर कार्रवाई से सीएम योगी के साथ ही और डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा को भी पत्र लिखा है. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस पत्र में उन्होंने लिखा है, ‘मैं बहुत दुखी मन से आप को पत्र लिख रहा हूं कि मेरा आगरा अत्यधिक संकट के दौर से गुजर रहा है. आगरा को बचाने के लिए कड़े निर्णय लेने की आवश्यकता है. स्थिति अत्यधिक गंभीर हो चुकी है. इसलिए मैं आपसे हाथ जोड़कर प्रार्थना कर रहा हूं कि मेरे आगरा को बचा लीजिए, बचा लीजिए.’’ Also Read - Dance Deewane 3 के सेट पर फफक-फफक कर रोने लगीं Bharti Singh, बोलीं- नहीं बनना चाहती मां

मरीजों को खाना नहीं मिल रहा, जांच नहीं हो रही
महापौर ने यह पत्र 21 अप्रैल को लिखा था जो 25 अप्रैल की रात्रि से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. पत्र में मेयर ने आगे लिखा है, ‘‘आगरा, देश का वुहान बन सकता है. स्थानीय प्रशासन नाकारा साबित हुआ है. हॉटस्पॉट एरिया में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटरों में कई-कई दिनों तक जांच नहीं हो पा रही. न ही मरीजों के लिए भोजन पानी का उचित प्रबंध हो पा रहा. …स्थिति विस्फोटक है.’’ Also Read - CM शिवराज सिंह चौहान का दावा- मध्य प्रदेश में अब तो कोरोना वायरस निरंतर...

प्रशासन को ठहराया जिम्मेदार
इस पत्र में मेयर ने शहर में कोरोना के बिगड़ते हालात और आम जनमानस को होने वाली परेशानी के लिए सीधे-सीधे जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को जिम्मेदार ठहराया है. यहां यह जिक्र करना जरूरी है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए तैयार किया गया आगरा मॉडल काफी कारगर साबित हुआ था. इस मॉडल की मदद से प्रशासन ने जिले में कोरोना की चेन को तोड़ दिया था. खुद स्वास्थ्य विभाग ने आगरा मॉडल की तारीफ करते हुए अन्य राज्यों से इस मॉडल का अनुसरण करने की अपील की थी. यह बीमारी चीन के वुहान शहर से शुरू हुई थी और वहां इस बीमारी का भयानक रूप सामने आया था.