UP Assembly Election 2022: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए शुक्रवार को कांग्रेस ने अपना घोषणापत्र जारी किया है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने  शुक्रवार को यूथ मेनिफेस्टो जारी किया. दोनों नेताओं ने ‘भर्ती विधान: युवा घोषणापत्र’ जारी करने के साथ ही यह भी कहा कि इसे राज्य के युवाओं से बातचीत करके तैयार किया है, जिसमें यूपी में अगर कांग्रेस की सरकार बनती है शिक्षकों की बंपर भर्ती की जाएगा और साथ ही 20 लाख से ज्यादा सरकारी नौकरियां दी जाएंगी, इसकी गारंटी है.Also Read - Hardik Patel ने कांग्रेस का दामन छोड़ा, गुजरात चुनाव से पहले पार्टी को लगा बड़ा झटका | वीडियो देखें

प्रियंका गांधी ने कहा है कि प्राथमिक विद्यालयों में डेढ़ लाख शिक्षकों की भर्ती की जाएगी. डॉक्टरों के 6000 खाली पदों को भारी जाएगा. 20000 आंगनाबाड़ी कार्यकर्ताओं को भरा जाएगा. उन्होंने कहा कि संस्कृत के शिक्षक, उर्दू के शिक्षक, आशा आदि में खाली सभी पदों को भरा जाएगा. सभी परीक्षाओं के फॉर्म के लिए शुल्क माफ होंगे और बस, ट्रेन यात्रा फ्री होगी. Also Read - महाराष्ट्र के मंत्री ने केंद्रीय मंत्री सिंधिया से औरंगाबाद एयरपोर्ट का नाम संभाजी के नाम पर करने की मांग की, क्‍या कांग्रेस, एनसीपी नाराज नहीं होंगी ?

जानिए क्या है कांग्रेस के युवा-घोषणा पत्र में 

  • परीक्षार्थियों के लिए बस, रेल यात्रा मुफ्त होगी. जॉब कैलेंडर बनाया जाएगा. पेपर, ज्वाइनिंग की तारीख तय होगी.
  • 30 साल से कम उम्र के उद्यमियों को प्राथमिकता दी जाएगी. सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के शुल्क माफ करेंगे.
  • घोषणा पत्र को भर्ती विधान कहा गया है क्योंकि यूपी में सबसे बड़ी समस्या नौकरी भर्ती की है.
  • नौजवानों की हर समस्या इस भर्ती विधान में समाहित हो.
  • युवाओं को इस भर्ती विधान में 20 लाख नौकरियां देने की बात कही गई है.
  • शिक्षकों के 1.50 लाख पद भी भरे जाएंगे.
  • विश्वविद्यालयों, कॉलेजों, डॉक्टरों, पुलिस, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के पद बड़ी संख्या में खाली हैं जिन्हें भरा जाएगा.
  • संस्कृत विश्वविद्यालयों में शिक्षकों के पद पर भर्ती, उर्दू शिक्षकों की भर्ती भी की जाएगी.
  • जहां 100 से ज्यादा एक ही इंडस्ट्री की फैक्टरी है उसे क्लस्टर बनाया जाएगा.
  • भर्ती प्रक्रिया  के लिए फॉर्म भरने में पैसा नहीं लगेगा, आने-जाने के लिए ट्रेन, बस आदि का पैसा नहीं लगेगा.
  • जॉब कैलेंडर बनाया जाएगा जिसमें परीक्षा की तारीख से नियुक्ति की तारीख तक होगी, कड़ाई से पालन होगा. न हुआ तो जुर्माना लगेगा.
  • आरक्षण का घोटाला और भर्ती घोटाला जैसे घोटालों पर लगाम लगेगी.
  • शिक्षा के बजट को हमारी सरकार आने पर बढ़ाया जाएगा.
  • विश्वविद्यालय, कॉलेजों में फ्री वाई-फाई, लाइब्रेरी, मेस आदि की सुविधा को बढ़ाया जाएगा.
  • सभी कॉलेज और विश्वविद्यालय में ईडब्ल्यूएस के लिए प्री और पोस्ट मेट्रिक स्कॉलशिप मिले इसकी भी व्यवस्था होगी. सिंगल विंडो भी खोला जाएगा.
  • रोजगार के लिए नए अवसर निकाले जाएंगे
  • नदी पर निर्भर समुदायों के लिए खास काम किया जाएगा.
  • रोजगार के लिए 1 लाख का ऋण 5 प्रतिशत ब्याज पर मिलेगा.
  • हर साल यूथ फेस्टिवल कराना चाहते हैं जिससे लोकल कल्चरल तौर पर विकास होगा. क्रिकेट की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एकेडमी होगी.
Also Read - सुप्रीम कोर्ट के आदेश से बढ़ी मुश्किलें, अब भाजपा और कांग्रेस के लिए ओबीसी उम्मीदवारों की तलाश बड़ी चुनौती