प्रयागराज: कोरोना वायरस (Corona Virus) की वजह से देशभर में लॉकडाउन (Lockdown) को लेकर शुक्रवार को सोशल मीडिया (Social Media) पर एक सूचना वायरल हो रही है जिसमें यूपी बोर्ड (UP Board) की 10वीं और 12वीं परीक्षा में शामिल सभी बच्चों को पास करने की बात कही गई है. कहा जा रहा है कि कोरोना और लॉकडाउन के चलते कॉपी चेक नहीं हो पा रही हैं और इसीलिए सभी को पास कर दिया गया है. अब यूपी बोर्ड ने इसे लेकर बयान जारी किया है. Also Read - बोनी कपूर और बेटियों समेत सामने आई स्टाफ मेंबर्स की कोरोना रिपोर्ट

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की सचिव नीना श्रीवास्तव ने इस सूचना को फर्जी करार देते हुए कहा कि यह बिल्कुल फर्जी है और लोगों को इस तरह की आधारहीन और झूठी सूचनाओं को लेकर सचेत रहने की जरूरत है. Also Read - लॉकडाउन के चलते इस एक्ट्रेस ने खो दी अपनी ये खास चीज़, सोशल मीडिया पर जताया दुख

सोशल मीडिया में वायरल हुई फर्जी सूचना में नीना श्रीवास्तव के हवाले से कहा गया है कि वर्ष 2020 की परिषदीय परीक्षाओं में शामिल होने वाले कक्षा 10 और कक्षा 12 के छात्र-छात्राओं को सूचित किया जाता है कि कोरोना वायरस महामारी के कारण परीक्षा पुस्तिकाओं की सुरक्षा में होने वाली कठिनाई को देखते हुए सभी छात्र-छात्राओं को पास करने का निर्णय किया गया है. Also Read - दिल्ली का एम्स ही बना कोरोना वायरस का हॉटस्पॉट, 479 पॉजिटिव मामले मिले

बता दें कि लॉकडाउन (Lockdown) और कोरोना वायरस (Corona Virus) के चलते कई जगहों पर स्कूल कॉलेज बंद हैं. कई जगह की सरकारों ने एक से कक्षा आठ तक के बच्चों को बिना परीक्षा पास करने का ऐलान किया है. ये बच्चे बिना पेपर के ही अगली क्लास के लिए प्रमोट होंगे.