नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता योगी आदित्यनाथ को पश्चिम बंगाल सरकार ने रैली की इजाजत देने से इनकार कर दिया. सीएम ऑफिस ने एक बयान जारी कर बताया कि बिना किसी पूर्व सूचना के सीएम योगी की रैली को परमिशन देने से मना कर दिया गया. बता दें कि योगी रविवार को पश्चिम बंगाल के दिनापुर में रैली को संबोधित करने वाले थे. न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार सीएम योगी आदित्यनाथ के सलाहकार मृत्युंजय कुमार का कहना है कि ये सीएम योगी की लोकप्रियता का ही असर है कि ममता बनर्जी ने हेलिकॉप्टर लैंडिग की इजाजत नहीं दी.

इस बीच, दक्षिण दिनापुर में भाजपा नेताओं और समर्थकों ने बालूरघाट हवाई अड्डे पर योगी आदित्यनाथ के हेलिकॉप्टर को उतरने की अनुमति देने से इनकार पर जिला मजिस्ट्रेट के बंगले के बाहर प्रदर्शन किया. भाजपा नेताओं ने दावा किया कि डीएम न तो सह-संचालन कर रहे हैं और न ही अनुमति देने से मना करने का कोई संतोषजनक कारण बता रहे हैं. राज्य भाजपा ने हालांकि कहा कि योगी आदित्यनाथ का हेलीकॉप्टर अब रायगंज में उतरेगा और वह सड़क मार्ग से बालुरघाट जाएंगे और फिर हेलीकॉप्टर में उत्तर प्रदेश रवाना होने से पहले अपनी दूसरी जनसभा को संबोधित करने के लिए रायगंज लौटेंगे. इससे पहले राज्य सरकार ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के हेलिकॉप्टर को भी उतरने की अनुमति देने से इनकार कर दिया था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला बोलते हुए उन पर लोगों की आकांक्षाओं को ‘मारने’ का आरोप लगाया और संगठित वसूली का संकेत करते हुए दावा किया कि उनकी पार्टी को ‘तीन टी – तृणमूल टोलाबाजी टैक्स’ के लिए जाना जाता है. बनर्जी के गढ़ में लोकसभा चुनाव के लिए शंखनाद करते हुए मोदी ने दो सार्वजनिक कार्यक्रमों को संबोधित किया, जहां उन्होंने तृणमूल प्रमुख पर जमकर हमला किया और नागरिकता (संशोधन) विधेयक के लिए के समर्थन में बोले, जिसका पश्चिम बंगाल की नेता ने कड़ा विरोध किया है.

पीएम ने दुर्गापुर में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘तृणमूल जन आकांक्षाओं को मार रही है लेकिन केंद्र सरकार उनके (लोगों के) सपनों को पूरा करेगी. जहां कहीं भी सिंडिकेट के लिए हिस्सा नहीं होता है….जहां कोई ‘मलाई’ नहीं होती है, वहां तृणमूल कांग्रेस विकास परियोजनाएं शुरु करने में कोई दिलचस्पी नहीं लेती है. तृणमूल कांग्रेस पर भ्रष्टाचार के मामले में करारा प्रहार करते हुए मोदी ने कहा कि पश्चिम बंगाल की सत्तारुढ़ पार्टी तीन ‘टी’– तृणमूल टोलाबाजी टैक्स के लिए जानी जाती है.स्थानीय बोलचाल में ‘टोलाबजी’ का मतलब संगठित तरीके से जबरन वसूली होता है.