लखनऊ| उत्तर प्रदेश को गंदगी मुक्त बनाने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना स्वच्छ भारत को बढ़ावा देने के लिए शनिवार को सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ खुद सड़कों पर झाड़ू लेकर उतर पड़े. उत्तर प्रदेश की स्वच्छता को लेकर बेहद गंभीर योगी आदित्यनाथ ने आज सुबह राजधानी लखनऊ से सफाई अभियान की शुरुआत की है.


सीएम ने लखनऊ के बालू अड्डा मलिन बस्ती से झाड़ू लगाने की शुरुआत की. इस दौरान उनके साथ उनकी कैबिनेट के कई और नेता भी मौजूद रहे. बता दें हाल ही में जारी की गई देश के सबसे स्वच्छ शहरों की टॉप 100 की सूची में उत्तर प्रदेश के एक भी शहर का नाम नहीं है. यूपी के 50 शहरों में से 25 को सबसे गंदे शहरों का श्रेणी में रखा गया है, जिसमें गोंडा सबसे गंदा शहर घोषित किया गया.

साफ सफाई, पानी, बिजली और सड़क जैसी बुनियादी जरूरतों को लेकर योगी आदित्यनाथ राज्य की सत्ता संभालने के पहले ही दिन से बेहद संजीदा हैं. सफाई को ध्यान में रखते हुए ही उन्होंने सभी सरकारी दफ्तरों अधिकारियों के गुटखा खाने पर पाबंदी लगा दी है. इतना ही नहीं वे 2 मई को प्रदेश की सड़कों को गधा मुक्त बनाने का भी निर्देश दे चुके हैं.