नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को पश्चिम बंगाल में रैली को संबोधित करेंगे. बीजेपी का आरोप है कि राज्य सरकार ने योगी के हेलिकॉप्टर को उतरने की अनुमति नहीं दी. अब सीएम योगी हेलिकॉप्टर से झारखंड के बोकारो में उतरेंगे और वहां से पुरलिया सड़क के माध्यस से जाएंगे. पुरलिया में योगी रैली को संबोधित करेंगे. बोकारो से पुरलिया की दूरी लगभग 53 किलोमीटर है. इससे पहले पश्चिम बंगाल बीजेपी ने बांकुरा में मंगलवार को निर्धारित उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जनसभा सोमवार को यह दावा करते हुए रद्द कर दिया कि जिला प्रशासन उनके हेलीकॉप्टर को उतरने के लिए अनुमति देने में टाल-मटोल कर रहा है.

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष का कहना था कि हमने योगी आदित्यनाथ की बांकुरा रैली रद्द करने का निर्णय लिया है क्योंकि जिला प्रशासन उनके हेलीकॉप्टर को उतरने की अनुमति देने में टाल-मटोल कर रहा है. हम कोई जोखिम नहीं लेना चाहते हैं, इसलिए हमने रद्द कर दिया है. घोष ने कहा कि लेकिन मंगलवार की आदित्यनाथ की पुरुलिया रैली फिलहाल निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही होगी. तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच रविवार को संघर्ष तब और तेज हो गया जब पश्चिम बंगाल सरकार ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के हेलीकॉप्टर को उतरने और उत्तरी बंगाल में दो जनसभाएं करने की अनुमति नहीं दी.

आदित्यनाथ ने रविवार को यहां तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी पर हमला बोलते हुए कहा कि लोकतंत्र में या देश के संविधान में उन्हें कोई भरोसा नहीं है. उन्होंने उनकी सरकार को गैरलोकतांत्रिक, जनविरोधी और अराजक बताया. आदित्यनाथ दक्षिण दिनाजपुर जिले के बालुरघाट और उत्तर दिनाजपुर जिले के रायगंज में दो रैलियों को संबोधित करने वाले थे. लेकिन भाजपा ने आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल सरकार ने योगी के हेलीकॉप्टर को यहां उतरने की अनुमति नहीं दी. योगी ने कहा, बंगाल की तृणमूल सरकार ने भय के कारण मुझे वहां जाने की अनुमति नहीं दी और इसलिए मैं मोदी जी के डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के जरिए आपके समक्ष हूं. बंगाल सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खेल रही है.

उन्होंने फोन पर रैली को संबोधित करते हुए कहा, “यह एक गैरलोकतांत्रिक, जनविरोधी और अराजक सरकार है. राज्य सरकार परेशान है, क्योंकि यह भाजपा के उदय से भयभीत है. उन्होंने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की रथयात्रा रैली को बाधित करने का आरोप भी तृणमूल सरकार पर लगाया. उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं को आश्वस्त किया कि “हम सभी इस गैरलोकतांत्रिक सरकार के खिलाफ लड़ाई में आप के साथ हैं.