गाजियाबाद: अवैध शराब की ब्रिकी और उसके पीने से चार लोगों की जान चली गई. गाजियाबाद की इस घटना पर राज्‍य के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने दुख जताया है और तुरंत जरूर कदम उठाने के निर्देश दिए हैं. वहीं, एएसपी ने अवैध शराब की ब्रिकी और इन मौतों के होने बाद संबंधित थानाक्षेत्र के एसएचओ समेत 4 पुलिसकर्मियों को सस्‍पेंड कर दिया है. दरअसल, गाजियाबाद के खोड़ा क्षेत्र में मंगलवार को अवैध शराब पीने से 4 लोगों की मौत हो गई और एक अन्य बीमार हो गया. जहरीली शराब पीने से हुई इन मौतों के बाद एसएसपी ने ये कदम उठाया है. Also Read - गाजियाबाद: मोमबत्ती बनाने वाली फैक्ट्री में धमाके के बाद लगी आग, 7 की मौत, कई घायल

गाजियाबाद के खोड़ा क्षेत्र में मंगलवार को अवैध शराब पीने से 4 लोगों की मौत हो गई और एक अन्य बीमार हो गया. घटना के बाद क्षेत्र के एसएचओ समेत चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है. एसएसपी एचएन सिंह ने इस मामले में कड़ी कार्रवाई करते हुए एसएचओ ध्रुव दुबे, क्षेत्र पुलिस प्रभारी और दो अन्य कांस्टेबल को निलंबित कर दिया है.पुलिस इस मामले के बाद आसपास के घरों में अन्य पीड़ितों का पता लगाने के लिए तलाशी ले रही है. Also Read - Coronavirus: नोएडा, गाजियाबाद समेत यूपी के इन 6 शहरों में रात के कर्फ्यू का समय बढ़ा

सिटीएसपी आकाश तोमर ने बताया, ‘पुलिस को मंगलवार सुबह पीड़ितों की जानकारी देने को लेकर अज्ञात फोन किया गया. फोन करने वाले ने कहा कि उन लोगों ने यहां आधी रात को एक पार्क में एक अनाधिकृत व्यापारी से यह शराब खरीदी थी, जिसका कई लोगों ने सेवन किया.’सिटी एसपी तोमर ने कहा, ‘तीन मृतकों की पहचान संदीप (18), अवनीश (25), अशोक कुमार (45) के रूप में हुई है जबकि चौथे की पहचान करने की कोशिश की जा रही है.’ फोन पर सूचना मिलने के बाद, जिला अधिकारी समेत कई वरिष्ठ पुलिस व अन्य अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे. पीड़ितों को लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल ले जाया गया. Also Read - Noida-Delhi Border Latest News Update: Unlock1.0 में भी बंद रहेगा दिल्ली-नोएडा बॉर्डर, डीएम ने जारी किया आदेश, जानें नए नियम

सीएम योगी ने जहरीली शराब से हुई मौतों की घटना को दुखद बताते हुए गंभीरता से लिया है. उन्होंने मृतकों के परिजनों के प्रति संवदेना व्यक्त करते हुए घटना की प्रभावी जांच व दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई के निर्देश जिला प्रशासन और पुलिस अधिकारियों को दिए. सीएम ने सुबह ही प्रशासन व पुलिस के अधिकारियों को घटना स्थल पर तुरंत पहुंचने और प्रभावित व्यक्तियों के समुचित इलाज की व्यवस्था कराने का भी आदेश दिए थे. (इनपुट: एजेंसी)