यूपी में विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही पार्टियों ने तैयारियां तेज कर दी हैं। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 28 जनवरी को लखनऊ में पार्टी का घोषणापत्र जारी करेंगे। माना जा रहा है कि बीजेपी के घोषणापत्र में विकास के एजेंडे के साथ ही सपा को जवाब देने के लिए कई लोक-लुभावन वादे भी किए जा सकते हैं। साथ ही युवा, किसानों और महिलाओं को साधने पर जोर होगा। Also Read - Covid-19 Vaccine Latest News: PM मोदी 28 नवंबर को पुणे से दे सकते हैं कोरोना वैक्‍सीन को लेकर अच्‍छी खबर

गौरतलब है कि इससे पहले 22 जनवरी को अखिलेश यादव ने 32 पन्नों  का घोषणापत्र जारी किया था। घोषणापत्र जारी करते हुए एक करोड़ लोगों को एक हजार रुपए मासिक पेंशन, गरीब महिलाओं को प्रेशर कुकर, रोडवेज बसों में महिलाओं का आधा किराया, वरिष्ठ नागरिकों के लिए ओल्ड एज होम, प्राइमरी स्कूलों में बच्चों को एक लीटर घी, गांवों में 24 घंटे बिजली, समाजवादी किसान कोष की स्थापना और असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के लिए योजना का वादा किया था। Also Read - मुंबई हमले को भूल नहीं सकता भारत, अब नई नीति के साथ देश आतंकवाद से लड़ रहा है: PM मोदी

ये भी पढ़ें: पद्म पुरस्कारों पर विवाद, उद्धव ठाकरे और ओवैसी ने उठाए सवाल Also Read - CoronaVirus ने ले ली कांग्रेस नेता अहमद पटेल की जान, पीएम ने जताया दुख, सोनिया-राहुल गांधी ने कही ये बात...

बीएसपी सुप्रीमो मायावती भी सीधे अकाउंट में पैसे पहुंचाने का वादा कर चुकी हैं। ऐसे में बीजेपी का मैनिफेस्टो इन दोनों के वादों की काट ढूंढ़ता दिखेगा।