ललितपुर: उत्तर प्रदेश में जालौन जिले में तैनात एक सिपाही को जिलाधिकारी ने ‘भूमाफिया’ घोषित कर फर्जीवाड़ा कर कब्जाई गई 22 एकड़ भूमि जब्त करने की कार्रवाई शुरू कर दी है. जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने बताया कि “ललितपुर जिले के जखौरा थाना क्षेत्र के बांसी गांव निवासी सिपाही सुंदरलाल यादव मौजूदा समय में जालौन जिले में तैनात है. Also Read - Nandababa Temple Namaz Case: मंदिर परिसर में नमाज पढ़ने वाले दोनों आरोपियों की जमानत याचिकाएं कोर्ट ने की खारिज

डीएम ने बताया कि सिपाही ने खाकी की रौब दिखाकर हाल ही में पांच एकड़ कृषि भूमि फर्जी तरीके से बैनामा करवा ली थी, जिसकी जांच के बाद पता चला कि उसने अब तक करीब 40 एकड़ भूमि का बैनामा कर चुका है. जबकि नियमानुसार बुंदेलखंड में एक व्यक्ति के नाम अधिकतम 18 एकड़ कृषि भूमि ही राजस्व अभिलेखों में दर्ज हो सकती है.” Also Read - 2 दिसंबर को होने वाली थी शादी, युवक ने कार रोककर महिला कॉन्‍स्‍टेबल गोली मारी, फिर खुद को मार ली

डीएम ने बताया कि “सीमा से अधिक 22 एकड़ भूमि जब्त किए जाने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है.” डीआईजी झांसी सुभाष सिंह बघेल ने बताया, “जिलाधिकारी द्वारा भूमाफिया घोषित करते ही सिपाही को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है.” Also Read - कूड़ा फेंकने के मामूली विवाद में सिपाही, उसकी बहन व मां की धारदार हथियार से हत्या, जांच में जुटी पुलिस

ललितपुर के पुलिस अधीक्षक कैप्टन एम. एम. बेग ने बताया कि “आरोपी सिपाही सुंदरलाल और उसके सहयोगियों हाकिम सिंह, अजय, छत्रपाल व केश कुंवर के खिलाफ धारा 447, 419, 420, 467, 468, 471, 120बी आईपीसी के तहत हाल ही में अपराध दर्ज किया गया है, जबकि इसके पूर्व सिपाही के खिलाफ तीन दर्जन मामले पहले से दर्ज हैं.”