लखनऊ: उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने अपने अधिकारियों और कर्मचारियों को अपने मोबाइल से सारे चाइनीज ऐप तत्काल प्रभाव से हटाने का आदेश दिया है. उत्तर प्रदेश विशेष कार्य बल (एसटीएफ) में करीब 300 अधिकारी कर्मचारी कार्यरत हैं. उत्तर प्रदेश एसटीएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर पीटीआई-भाषा को बताया कि यह आदेश विभाग का अंदरूनी मामला है और इसे केवल एसटीएफ के लोगों के लिये ही लागू किया गया है. Also Read - Vikas Dubey Encounter Updates: आठ दिन में विकास दुबे मामले को योगी सरकार ने ऐसे किया खत्म, सोशल मीडिया मे जमकर हो रही वाहवाही

उन्होंने ऐसा आदेश दिए जाने की पुष्टि की है लेकिन कहा, “हम मीडिया को इस बारे में विस्तार से नही बता सकते है क्योंकि यह हमारा अंदरूनी मामला है.” लेकिन सोशल मीडिया और पुलिस विभाग के व्हाट्सऐप ग्रुप में यह आदेश पुलिस महानिरीक्षक एसटीएफ के पदनाम से डाला गया है, लेकिन इसमें उनके हस्ताक्षर नहीं हैं. Also Read - Encounter in UP: बहराइच में भी एक बदमाश का एनकाउंटर, 50 हजार का था इनामी

इस आदेश में 52 चाइनीज ऐप की सूची भी संलग्न की गई है. इन सभी 52 ऐप को एसटीएफ के अधिकारियों और कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से अपने मोबाइल से हटाने को कहा गया है. एसटीएफ के आईजी के पदनाम से जारी इस आदेश में एसटीएफ में तैनात कर्मियों अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे अपने व अपने परिजनों के मोबाइल से चाइनीज ऐपों को तत्काल प्रभाव से हटा दें. Also Read - Kanpur Encounter Live: UP Gangster Vikas Dubey को कानपुर लाते समय पलटी STF की गाड़ी और फिर पुलिस ने...

इस निर्देश के बाद टिकटॉक, यूसी ब्राउजर, शेयर इट समेत 52 चाइनीज ऐप मोबाइल से हटाए जाएंगे. इसके लिए बाकायदा इन ऐप की सूची भी जारी की गई है. माना जा रहा है कि अगर ऐसा कोई कदम उठाया गया है तो यह सुरक्षा कारणों को ध्यान में रखकर ही उठाया गया है.

(इनपुट भाषा)