लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश के महाराजगंज जिले की दीवानी अदालत बार एसोसिएशन ने दो वकीलों की सदस्यता आजीवन समाप्त कर दी है. इनमें से एक वकील की अदालत परिसर में कुछ अन्य वकीलों ने इसलिए पिटाई कर दी, क्योंकि उसने उस आरोपी की कानूनी मदद की थी, जिसने 15 अगस्त को बच्चों को राष्ट्रगान गाने से रोका था.

राष्ट्रगान गाने का विरोध करने पर यूपी सरकार ने खत्‍म की मदरसे की मान्यता

बार एसोसिएशन ने जिला न्यायाधीश को अर्जी देकर दोनों वकीलों को आवंटित जगह भी रद्द करने का आग्रह किया है. हालांकि अब तक कोई प्राथमिकी नहीं दर्ज की गयी है लेकिन एक वकील ने कहा कि वह आज यानी शुक्रवार को प्राथमिकी दर्ज कराएगा. बता दें कि स्वतंत्रता दिवस पर महाराजगंज जिले के कोलूही थाना क्षेत्र के बदगो गांव स्थित मदरसा अरबिया अहले सुन्नत अनवारे तैबा गर्ल्स कॉलेज में झंडारोहण के बाद मोहम्मद जुनैद अंसारी सामने आ गया और छात्रों को राष्ट्रगान गाने से रोक दिया था.

मदरसे में राष्ट्रगान गाने से रोकने पर तीन अध्यापकों के खिलाफ राष्ट्रदोह का मुकदमा

इसके बाद में सोशल मीडिया पर इस घटना का वीडियो वायरल होने पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था. विरोध स्वरूप महाराजगंज की बार एसोसिएशन ने तय किया था कि कोई भी वकील आरोपी की कानूनी मदद नहीं करेगा. (इनपुट एजेंसी)