नई दिल्ली। राज्यसभा में आज फिर तीन तलाक बिल पर बहस हो रही है. बुधवार को इस पर मचे हंगामे के बाद सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई थी. कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दलों की मांग है कि इसे सेलेक्ट कमेटी में भेजा जाए. वहीं सरकार इस पर बहस चाहती है. इसे लेकर सदन में बहस हुई. दोनों तरफ से बहसबाजी के बीच खासा हंगामा भी मचा. भारी हंगामे के बीच उपसभापति ने सदन को कल तक के लिए स्थगित कर दिया.

इस दौरान टीएमसी के डेरेक ओ ब्रायन और मंत्री स्मृति ईरानी के बीच गर्मागर्म बहस भी हुई. डेरेक ने कहा कि विपक्ष महिला सशक्तिकरण चाहता है और सरकार एक्सपोज हो गई है. जवाब में स्मृति ने कहा कि अगर आप वाकई महिला सशक्तिकरण चाहते हैं तो इस बिल पर बहस कीजिए.

किसने क्या कहा रहा है जानिए-

आनंद शर्मा, कांग्रेस- तीन तलाक बिल सेलेक्ट कमेटी में भेजा जाए.

अरुण जेटली, बीजेपी- तीन तलाक बिल को बर्बाद करना चाहती है कांग्रेस. कोई भी संशोधन 24 घंटे पहले आना चाहिए. सुधार के बहाने तीन तलाक को लटकाने का इरादा. बिल को बर्बाद करने वाले सेलेक्ट कमेटी में ना हों.

गुलाम नबी आजाद, कांग्रेस- तीन तलाक बिल महिलाओं के खिलाफ. अगर पति को जेल हो जाए तो परिवार कौन चलाएगा.

बुधवार को भी इसे लेकर राज्यसभा में जबरदस्त हंगामा मचा था. कल बहस महज 1 घंटे ही चल पाई थी. सरकार और विपक्ष के बीच गर्मागर्मी हुई और दोनों अपने अपने तर्कों पर अड़े रहे. आज भी संसद में वैसा ही नजारा दिखा. बहस की बजाए शोरगुल, हंगामा होने लगा जिसके बाद सदन की कार्यवाही कल सुबह 11 बजे तक स्थगित कर दी गई. हालांकि लोकसभा में बिल पास हो चुका है जहां बीजेपी बहुमत में है. लेकिन उपरी सदन राज्यसभा में उसके 57 ही सांसद है, इसके अलावा मुश्किल ये है कि एनडीए के सहयोगी दल टीडीपी और शिवसेना भी उसके साथ नहीं हैं. एआईएडीएमके और बीजेडी भी बिल का विरोध कर रहे हैं.