नई दिल्ली: केंद्रीय आवास व शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कई बिंदुओं पर कमियों को स्वीकार करते हुए कहा कि सरकार विस्तृत रिपोर्ट प्राप्त करने के बाद कमियों पर गौर करेगी, लेकिन यह समय भयावह आग से प्रभावित लोगों की मदद का वक्त है. दिल्ली के रानी झांसी रोड इलाके में एक फैक्ट्री में रविवार को भयावह आग लग गई.

मंत्री ने इस हादसे को ‘बहुत दुखद घटना’ बताया. उन्होंने भरोसा दिया कि सरकार ने इस तरह के अनधिकृत जगहों को विकसित करने के लिए कुछ फैसले लिए हैं. पुरी घटनास्थल पर पहुंचने वाले पहले केंद्रीय मंत्री हैं. पुरी ने मीडिया से कहा कि यह ‘राजनीतिक टिप्पणियां’ करने का समय नहीं है. पुरी ने कहा कि लोग उत्तर प्रदेश व बिहार से आते हैं. वे हमारे भाई व बहन हैं. वे हमारे नागरिक हैं. मुद्दा यह नहीं है कि कौन कहां से आता है. मैं ऑन रिकॉर्ड कहना चाहता हूं कि हमें प्रभावित परिवारों को सभी जरूरी मदद देनी चाहिए.

दिल्ली अग्निकांड: अब तक 43 की मौत, घटना की जांच के आदेश, फैक्ट्री मालिक के खिलाफ FIR

शॉर्ट सर्किट के कारण हादसा
घटना के पीछे कारणों, शॉर्ट सर्किट के बारे में व बिजली के तारों के कम ऊंचाई पर होने के बारे में पूछे जाने पर मंत्री ने कहा कि मैं सहमत हूं. मैं दिल्ली में पला बढ़ा हूं. आप जो कह रहे हैं वह सही हैं, लेकिन घटना के बारे में उचित जानकारी प्राप्त करना महत्वपूर्ण है. शार्ट सर्किट इसका तात्कालिक कारण है. मंत्री ने कहा कि दिल्ली पुलिस व अग्निशमन विभाग को आग की सूचना सुबह 5.22 बजे मिली.

दिल्ली अग्निकांडः BJP ने मृतकों के परिवारों को 5-5 लाख रुपए के मुआवजे का किया ऐलान

इस समय राजनीतिक बयान नहीं देना चाहते
पुरी ने कहा कि हमारी पार्टी के विधायक सूचना मिलने के तुरंत बाद पहुंचे. उन्होंने कहा कि हम इस समय राजनीतिक बयान नहीं देना चाहते. प्लास्टिक बैग व कार्ड बोर्ड मैन्युफैक्चरिंग यूनिट में सुबह पांच बजे के करीब लगी भयावह आग में 43 लोगों की मौत हो गई और दर्जन भर से ज्यादा लोग घायल हो गए. मृतकों में ज्यादातर 14 से 20 साल के बच्चे बताए जा रहे हैं. आग की वजह शॉर्ट सर्किट बताई जा रही है. (इनपुट एजेंसी)