वॉशिंगटन. अमेरिका की शीर्ष रक्षा निर्माता कंपनी ने भारत के व्यापक सैन्य आधुनिकीकरण में अमेरिका की बड़ी भागीदारी के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए कहा है कि उसने भारत के साथ गेमचेंजिंग साझेदारी प्रस्तावित की है. लॉकहीड मार्टिन में एयरोनॉटिक्स स्ट्रैटेजी एंड बिजनेस डेवेलॉपमेंट के उपाध्यक्ष विवेक लाल ने के मुताबिक, लॉकहीड मार्टिन भारत के साथ रणनीतिक, दीर्घकालीन, अंतरराष्ट्रीय रक्षा साझेदारी के लिए प्रतिबद्ध है. भारत को आधुनिक रक्षा क्षमताओं की काफी आवश्यकता है.

उन्होंने कहा कि लॉकहीड मार्टिन परिदृश्य बदलने वाली रक्षा साझेदारी प्रस्तावित कर रहा है, जिससे केवल भारत ही नहीं, बल्कि अमेरिका और उससे आगे भी कई अंशधारकों को लाभ होगा. उन्होंने कहा, हमारा मानना है कि नए लड़ाकू विमान, हेलीकॉप्टरों और अन्य मंचों के लिए भारत के साथ हमारी प्रस्तावित साझेदारी निकट भविष्य और लंबे समय में ना सिर्फ भारत की क्षमता एवं रक्षा प्रगौद्योगिकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी बल्कि उससे भी आगे लेकर जाएगी. लाल ने कहा कि कंपनी ने सितंबर 2018 में यह घोषणा करके प्रतिबद्धता दर्शाई है कि वह भावी उपभोक्ताओं के लिए भारत में एफ-16 विमानों को लेकर टाटा के साथ साझीदारी करेगा.

‘मेक इन इंडिया’ का असर
उन्होंने कहा, ऐतिहासिक ‘मेक इन इंडिया’ साझेदारी एक स्वाभाविक अगला कदम है जो टाटा के साथ सी-130 जे विमान और अन्य रक्षा मंचों पर हमारी सफल भागीदारी को आगे लेकर जाता है. लाल ने कहा, हम भारत में दिख रही संभावनाओं से उत्साहित हैं. भारतीय नौसेना के लिए 24 हेलीकॉप्टरों की स्थिति के बारे में पूछे जाने पर लाल ने कहा कि भारत सरकार ने 24 एमएच 60आर हेलीकॉप्टर हासिल करने की खातिर प्रस्ताव एवं स्वीकार्यता पत्र (एलओए) के लिए अमेरिका सरकार को अनुरोध पत्र (एलओआर) जारी किया था.

अमेरिकी नौसेना कर रही तैयारी
उन्होंने कहा, अमेरिकी नौसेना जवाब देने की तैयारी कर रहा है, जो जल्द की दे दिया जाएगा. हमें भरोसा है कि एमएच 60आर ‘रोमियो’ भारतीय नौसेना के लिए उचित विमान है क्योंकि यह हिन्द-प्रशांत क्षेत्र में नौसेना को अहम क्षमता मुहैया कराता है. लाल ने कहा कि लॉकहीड मार्टिन भारतीय नौसेना की 111 बहुउपयोगी हेलीकॉप्टर हासिल करने के कदम में भी भागीदारी की योजना बना रहा है. एस-76डी हेलीकॉप्टर भारतीय नौसेना के बहुउपयोगी हेलीकॉप्टर कार्यक्रम के लिए उचित हेलीकॉप्टर है.