वाशिंगटन. भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ते तनाव से चिंतित अमेरिका ने बुधवार को परमाणु शक्ति संपन्न दोनों देशों से तनाव कम करने के लिये तुरंत कदम उठाने की अपील की. उसने आगाह किया कि आगे से किसी भी ओर से की गई सैन्य कार्रवाई से दोनों देशों के लिये जोखिम की आशंका अस्वीकार्य रूप से बहुत ज्यादा है. 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में एक आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी, जिसके बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया था.

व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (एनएससी) के एक अधिकारी ने कहा, अमेरिका भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ते तनाव को लेकर चिंतित है और उसने दोनों पक्षों से तनाव कम करने के लिए तत्काल कदम उठाने का आह्वान किया है. नाम सार्वजनिक नहीं करने की शर्त पर एनएससी के अधिकारी ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया, आगे से किसी भी ओर से सैन्य कार्रवाई होने से दोनों देशों, उनके पडो़सियों और विश्व समुदाय के लिये जोखिम की आशंका अस्वीकार्य रूप से बहुत ज्यादा है.

पाकिस्तान के दावे का दे रहे थे जवाब
अधिकारी पाकिस्तान के उस दावे पर एक सवाल का जवाब दे रहे थे जिसमें पाकिस्तान ने कहा था कि उसने अपने हवाई क्षेत्र में दो भारतीय लड़ाकू विमानों को मार गिराया और एक पायलट को गिरफ्तार कर लिया. अधिकारी ने कहा, “अमेरिका के अधिकारियों ने पुलवामा हमले के बाद भारत के साथ मजबूत एकजुटता दिखाई है. अधिकारी ने दोनों देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों के बीच सीधे संवाद पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.