लखनऊ: उत्तर प्रदेश में योगी की सरकार आने के बाद अब बोर्ड परीक्षा पर में बदलाव नजर आने लगा है. कल रोकने के लिए कड़े इंतजाम के बाद नकलचियों और कल कराने वाले गिरोह डरे हुए हैं. अगर कोई नकल कराने की हिमाकत कर भी रहा है तो उसे पुलिस पकड़ गिरफ्तार कर हवालात में भेज रही है. एक ऐसा यूपी पुलिस के हत्थे फिर चढ़ा है. Also Read - योगी सरकार ने दी यूपी में बड़े आयोजनों की अनुमति, कोविड प्रोटोकॉल का करना होगा पालन

Also Read - Kanpur Encounter: परिवार के एक सदस्य को शासकीय नौकरी और 1 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

बता दें कि उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने माध्यमिक (बोर्ड) परीक्षा में सामूहिक नकल कराने वाले गिरोह के सरगना सहित 10 सदस्यों को जनपद एटा से गिरफ्तार किया है. नकल माफियों के पास से बिना मुखपृष्ठ की 9 लिखी कापियां, दो खाली कापी, बिना मुखपृष्ठ की 18 कापी, इंटर अंग्रेजी प्रथम प्रश्न, कई कोश्चन बैंक, 18 प्रवेश पत्र, 12 पर्चियां आदि पाई गईं. Also Read - Sakhi Yojna for Womens in UP: इस योजना के तहत महिलाओं को हर महीने मिलेंगे 4000 रुपए, जानें इससे जुड़ी खास बातें

स्कूली छात्र ने वॉट्सऐप यूजर्स को भेजा लश्‍कर ग्रुप जॉइन करने का इनविटेशन: यूपी पुलिस

स्कूली छात्र ने वॉट्सऐप यूजर्स को भेजा लश्‍कर ग्रुप जॉइन करने का इनविटेशन: यूपी पुलिस

एसटीएफ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने रविवार को बताया कि शनिवार दोपहर एटा के थाना सकीट स्थित मां गायत्री इंटरमीडिएट कॉलेज में छापा मारकर टीम ने 10 लोगों को नकल कराते पकड़ा. पकड़े गए लोगों में कॉलेज के प्रधानाचार्य गौरीशंकर, तेजेंद्र, विपिन कुमार, नेपाल सिंह, राज कुमार, राहुल, अजय सिंह, सुमित कुमार, रमन और दिलीप कुमार गुप्ता शामिल हैं.

ये सभी लोग निर्धारित परीक्षा केंद्र से कुछ दूरी पर स्थित कॉलेज में सॉल्वरों के माध्यम से छात्रा के प्रश्नप्रत्र हल कर रहे थे. एटा पुलिस थाना सकीट में मुकदमा दर्ज कर सभी के खिलाफ कार्रवाई कर रही है. ( एजेंसी इनपुट )