नई दिल्ली/लखनऊ. यूपी के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा का अटपटा बयान चर्चा में है. एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, पहले भी भारत की तकनीकी बहुत आगे थी. रामचंद्र जी के वक्त पुष्पक विमान था. उन्होंने आगे कहा, सीता टेस्ट ट्यूब बेबी हो सकती हैं. उनका जन्म घड़े की मदद से हुआ था. यह उस समय टेस्ट ट्यूब से बच्चे पैदा करने का एक तरीका था.

दिनेश शर्मा यही नहीं रुके. उन्होंने आगे कहा, पत्रकारिता आधुनिककाल से ही शुरू नहीं हुई. यह महाभारत के काल से चली आ रही है. उन्होंने विज्ञान को लेकर कहा कि गुरुत्वाकर्षण बल, प्लास्टिक सर्जरी और परमाणु की खोज भी भारत में हुई थी.

महाभारत के संजय के पास थी तकनीकी
महाभारत के पात्र संजय का जिक्र करते हुए उऩ्होंने कहा कि संजय हस्तिनापुर में बैठे-बैठ कुरुक्षेत्र में हो रहे महाभारत के युद्ध का विहंगम दृश्य धृतराष्ट्र को बताते थे. ये लाइव टेलीकास्ट नहीं तो क्या है. बता दें कि इससे पहले त्रिपुरा के सीएम ने भी कहा था उस समय भी ऐसी तकनीकी थी जिससे संजय सब कुछ देख सकते थे.

गूगल से पहले तीन बार नारायण था
दिनेश शर्मा यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा, आपका गूगल अभी आया है. लेकिन हमारा गूगल बहुत पहले ही आ गया था. नारदमुनी जानकारी के प्रतीक थे. वह कहीं भी पहुंच सकते थे और तीन बार नारायण बोलकर संदेश को पहुंचा सकते थे. हम सबको अपने वैभवशाली इतिहास के बारे में जानना चाहिए.