कानपुर (यूपी): सामूहिक बलात्कार पीड़िता एक किशोरी ने यहां कथित तौर पर आत्महत्या कर ली. उसके परिवार के सदस्यों ने पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया है. परिजनों के अनुसार पीड़िता कार्रवाई न होने से परेशान थी और लोगों के ताने भी सहने पड़ रहे थे. पुलिस अधीक्षक (पूर्वी) राज कुमार अग्रवाल ने शनिवार को बताया कि 13 वर्षीय पीड़िता का शव शुक्रवार रात उसके कमरे में फंदे से लटका पाया गया. मौके पर कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है.

पुलिस ने बताया कि पड़ोस में रहने वाले कुछ लोगों ने लड़की का 13 जुलाई को कथित तौर पर अपहरण कर लिया था. पीड़िता अगले दिन घर लौटी और उसने अपने माता-पिता को पूरी घटना बताई. इसके बाद परिवार के लोगों ने राय पुरवा थाना में एक प्राथमिकी दर्ज कराने की कोशिश की, लेकिन वे नाकाम रहे.

कश्मीरी लड़कियों पर CM खट्टर के कमेंट से गुस्से में महिला आयोग, कहा- ऐसी बातों से हो सकती है हिंसा

पीड़िता के परिवार ने आरोप लगाया है कि पुलिस के कार्रवाई नहीं करने से परेशान लड़की अवसाद में चली गई. वह लोगों के ताने भी सह रही थी. इस वजह से उसने यह कठोर कदम उठाया. अग्रवाल ने बताया कि थाना प्रभारी सत्य देव शर्मा, कूपरगंज चौकी प्रभारी उमेश कुमार, हेड कांस्टेबल उमेद सिंह और कांस्टेबल संजीव गौतम को डयूटी में लापरवाही बरतने को लेकर निलंबित कर दिया गया है.