कानपुर: खूंखार गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर (Vikas Dubey Encounter) को लेकर दो समूहों के बीच की बहस ने हिंसक रूप ले लिया. झड़प में चार लोग घायल हुए हैं. यह विचित्र घटना शनिवार को कानपुर देहात के डेरापुर इलाके में हुई. पुलिस ने कहा कि दोनों गुट के लोग विकास दुबे के एनकाउंटर को लेकर बहस कर रहे थे. Also Read - UP Gram Panchayat Chunav 2021: विकास दुबे के गांव बिकरू में 25 साल बाद निष्पक्ष चुना गया प्रधान, जानिए कौन जीता?

इस एनकाउंटर को एक समूह सही ठहरा रहा था, जबकि दूसरा इसके विरोध में था. यह बहस इतना आगे बढ़ गई कि बात मारपीट पर आ गई. दोनों पक्षों के लोगों के खिलाफ अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की गई है, जबकि घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. Also Read - UP Panchayat Election 2021: कानपुर की आरक्षण सूची जारी, बिकरू गाँव से क्या विकास दुबे की पत्नी लड़ेंगी चुनाव?

एएसपी अनूप कुमार ने कहा, “हमने इस संबंध में अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की है और आगे की जांच जारी है. दोनों पक्षों के तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है.” Also Read - Vikas Dubey पर बन रही फिल्म को लेकर मुश्किलें बढ़ीं, शूटिंग की नहीं मिली इजाजत

बता दें कि विकास दुबे को उज्जैन में अरेस्ट कर लिया गया था. इसके बाद उसे उज्जैन पुलिस ने कानपुर पुलिस को सौंप दिया था. विकास दुबे का कानपुर के पहले ही एनकाउंटर कर दिया गया था. पुलिस का दावा था कि गाड़ी पलट गई, इसके बाद विकास दुबे ने भागने की कोशिश की और पुलिस को एनकाउंटर करना पड़ा. पूरे देश, खासकर उत्तर प्रदेश में इस एनकाउंटर की चर्चा रही. एक बड़े तबके का मानना है कि पुलिस ने ऐसा कर ठीक नहीं किया, ये सुनियोजित था. जबकि कई लोग इसे सही ठहरा रहे हैं.