देहरादून: उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में शुक्रवार को जहरीली शराब पीने से 6 लोगों की मौत हो गई. उत्तराखंड पुलिस के महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) ने हालांकि 3 लोगों की मौत होने की ही पुष्टि की है. घटना की पुष्टि करते हुए राज्य के महानिदेशक कानून एवं व्यवस्था अशोक कुमार ने देर शाम बताया कि शराब पीने के बाद कई लोगों की तबीयत खराब होने की खबरें शुक्रवार को दिन के वक्त आनी शुरू हुई थीं. उधर, घटना को लेकर उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शोक जताया है, साथ ही मामले की जांच कर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं.

 

उन्होंने आगे कहा कि रात आठ बजे तक 3 लोगों के मरने की पुष्टि हुई है. कहा जा रहा है कि मरने वाले तीनों लोगों ने एक ममोज और जूस की दुकान से शराब लेकर पी थी. उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) अशोक कुमार के मुताबिक, इस मामले की जांच आबकारी विभाग के साथ-साथ पुलिस थाना कोतवाली कर रही है. यह पूछे जाने पर कि जहरीली शराब से छह लोगों के मरने की बात भी सामने आ रही है, उन्होंने कहा कि नहीं, हमारे पास अभी तक 3 लोगों की मौत की खबर है.

मरने वालों में अधिकांश देहरादून के
इस सिलसिले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी होने से भी उन्होंने इनकार किया है. उनके मुताबिक, जो लोग अस्पताल में भर्ती हैं, अभी उनको बचाने की कोशिशें तेज कर दी गई हैं, क्योंकि इन्हीं लोगों के बयानों के आधार पर जांच को आगे बढ़ाया जा सकता है. मरने वालों में अधिकांश लोग देहरादून और उसके आसपास के इलाकों के ही बताए जाते हैं. दूसरी ओर, गुस्साए नागरिकों ने स्थानीय विधायक के निवास का दिन में घेराव किया. घेराव कर रही भीड़ का आरोप था कि कुछ बाहरी लोगों ने आकर स्थानीय लोगों को मिलावटी शराब पीने को दी थी.

बीते दिनों मिलावटी शराब पीने से टिहरी में भी मरे थे दो लोग
उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों पहले टिहरी के एक गांव में भी मिलावटी शराब पीने से दो लोगों की जान गई थी. जबकि हरिद्वार में 40 से ज्यादा लोगों की मौत जहरीली शराब के सेवन से हुई थी. उन दिनों की गई मामले की जांच में पाया गया था कि शराब में मिथेलॉन मिला हुआ था. बाद में उस मामले में उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में कई लोग गिरफ्तार किए गए थे.