नई दिल्‍ली: देश में करोना वायरस के संक्रमण के बीच आर्थिक चुनौतियों के बीच केंद्र की सरकार के नक्‍शे-कदम पर उत्‍तरखंड की सरकार ने भी मंत्र‍ियों- विधायकों के वेतन में 30 फीसदी कटौती का निर्णय लिया है. यह फैसले पर राज्‍य सरकार की कैबिनेट की हुई मीटिंग में लिया गया है. Also Read - Coronavirus Lockdown: स्कूलों को फिर से खोलने की योजना पर अभिभावकों की बढ़ी चिंता, जानें क्या सरकार प्लानिंग

उत्‍तराखंड कैबिनेट ने अगले आदेश तक मंत्र‍ियों और विधायकों की सैलरी से 30 फीसदी कटौती करने और एमएलए के स्‍थानीय क्षेत्र विकास निधि में एक करोड़ रुपए कटौती करने को स्‍वीकृति दी है. यह बात उत्‍तराखंड सरकार के प्रवक्‍ता और राज्‍य मंत्री मदन कौशिक ने कही है. Also Read - Delhi-Haryana Border: दिल्ली-हरियाणा सीमा पार करने के लिए अब ट्रेवल पास की नहीं होगी जरूरत

उत्‍तरखंड सरकार के प्रवक्ता और राज्य मंत्री माधव कौशिक ने कहा, उत्तराखंड मंत्रिमंडल ने मंत्रियों और विधायकों के वेतन में 30 प्रतिशत कटौती को अगले आदेश तक और प्रत्येक विधायकों के स्थानीय क्षेत्र विकास निधि से दो साल के लिए Coronavirus Pandemic के मद्देनजर 1 करोड़ रुपए की कटौती को मंजूरी दी है. Also Read - कोरोना के खिलाफ जंग में हम ही जीतेंगे, दुनिया को हमारे डॉक्टरों और वैज्ञानिकों से काफी उम्मीद: पीएम नरेंद्र मोदी

गौरतलब है कि राज्‍य के मुख्‍यमंत्री त्र‍िवेंद्र सिंह रावत ने पहले ही इस संबंध में घोषणा कर दी थी कि केंद्र सरकार की तरह उत्‍तराखंड की सरकार भी अपने मंत्र‍ियों और विधायकों के वेतन में कटौती करेगी.

बता दें कि बुधवार को ताजा खबरों के मुताबिक हरिद्वार में कोरोना वायरस से संक्रमण का एक केस मिला है. इसके साथ ही उत्‍तराखंड में कोविड 19 से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 32 हो गया है. राज्‍य में अभी तक 5 मरीजों को स्‍वस्‍थ होने पर डिस्‍चार्ज किया गया है.