नई दिल्ली/लंदन: उत्तराखंड में नंदा देवी चोटी पर लगभग एक सप्ताह पहले पर्वतारोहण अभियान के दौरान लापता हुए सात विदेशी नागरिकों और उनके भारतीय संपर्क अधिकारी की तलाश में अभियान जारी है. लापता पर्वतारोहियों मं ब्रिटेन के चार, अमेरिका के दो और एक ऑस्ट्रेलियाई नागरिक शामिल हैं. उधर, भारतीय वायु सेना की मदद से भारत-तिब्बत सीमा पुलिस ने नंदा देवी बेस कैंप से चार पर्वतारोहियों को बचाया है. पर्वतारोहियों को पिथौरागढ़ लाया गया है.

 

पिथौरागढ़ के जिलाधिकारी विजय कुमार जोगडांडे ने सीएनएन को बताया कि यह दल भारत में सबसे ऊंची और सबसे दुर्गम चोटियों में से एक लगभग 24,000 फीट ऊंची नंदा देवी पूर्वी की चोटी पर जाना चाहता था. लापता हुए आठ लोग 12 लोगों के दल के सदस्य थे. ये सभी लोग 13 मई को मुंसियारी गांव से रवाना हुए थे. एक रिपोर्ट के अनुसार, वरिष्ठ अधिकारी आर.डी. पालीवाल ने कहा कि लेकिन 12 दिनों के बाद 25 मई को आधार शिविर पर सिर्फ चार लोग लौटे. जोगदांडे के अनुसार, पूरा दल 26 मई को आधार शिविर लौटने वाला था. आधार शिविर समुद्र तल से 19,685 फीट की ऊंचाई पर स्थित है.

नंदा देवी चोटी पर चढ़ाई कर रहे आठ विदेशी पर्वतारोहियों का दल लापता

31 मई को पर्वतारोहियों के गुमशुदगी के बारे में प्रशासन को चला पता
सीएनएन के अनुसार, जोगदांडे ने कहा कि पर्वतारोहण की व्यवस्था करने वाली कंपनी हिमालयन रन एंड ट्रैक ने चार सदस्यों के आने के बाद कुछ दिनों तक इंतजार किया इसके बाद उन्होंने 31 मई को उनकी गुमशुदगी के बारे में प्रशासन को बताया. लापता भारतीय अधिकारी नई दिल्ली स्थित भारतीय पर्वतारोहण फाउंडेशन से है. इंग्लैंड के विदेश विभाग ने एक बयान में कहा कि वह पर्वतारोहियों की गुमशुदगी के बाद भारतीय अधिकारियों के संपर्क में है. ऑस्ट्रेलिया के विदेश मामले और व्यापार विभाग ने भी कहा कि वह लापता ऑस्ट्रेलियाई व्यक्ति के परिवार को सहयोग कर रहा है. इसी बीच तीन खोजी दल चोटी से 25 किलोमीटर पहले स्थित पहले आधार शिविर पर पहुंच गए हैं. इस घटना से पहले इस वर्ष 11 पर्वतारोहियों की मौत हो चुकी है.

चार पर्वतारोहियों को बचाया
भारतीय वायु सेना की मदद से भारत-तिब्बत सीमा पुलिस ने नंदा देवी बेस कैंप से चार पर्वतारोहियों को बचाया है. पर्वतारोहियों को पिथौरागढ़ लाया गया है. बता दें कि उतराखंड: भारत-तिब्बत सीमा पुलिस शुक्रवार को लापता हुए 8 पर्वतारोहियों के लिए तलाशी अभियान चला रही है. वे नंदा देवी पूर्व की ओर चले गए थे. इस बारे में पिथौरागढ़ के डीएम वीके जोगदंडे ने बताया कि 12 लोगों के दल में से 4 पर्वतारोहियों को बचाया गया है, क्योंकि नंदा देवी पूर्व के करीब के इलाके में हिमस्खलन की संभावना है. बाकी 8 पर्वतारोहियों के लिए खोज और बचाव अभियान मौसम की स्थिति के आधार चलाया जा रहा है.