Uttarakhand Lockdown Update: उत्तराखंड में कोरोना लॉकडाउन के तहत चल रहे प्रतिबंधों को 20 जुलाई तक बढ़ा दिया गया है. उत्तराखंड सरकार ने सोमवार शाम कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) को बढ़ाने की घोषणा की. सरकार की तरफ से जारी गाइडलाइंस के मुताबिक, शादियों और अंतिम संस्कार में 50 लोगों को जाने की इजाजत होगी. साथ ही उस दौरान कोरोना गाइडलाइंस का पालन करना भी जरूरी होगा.Also Read - Uttarakhand Travel Guidelines: उत्तराखंड जाने का बना रहे हैं प्लान तो पहले पढ़ लें यह जरूरी खबर! सरकार ने जारी की है नई ट्रैवल गाइडलाइंस

नया प्रतिबंध 20 जुलाई, 2021 को सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा. मसूरी और नैनीताल जैसे हिल स्टेशनों पर भारी संख्या में पर्यटकों की आमद के बीच यह फैसला आया है, जिससे संक्रमण की एक और लहर की चेतावनी दी गई है. Also Read - Kanwar Yatra 2021 Update: कोरोना की वजह से इस बार भी कांवड़ यात्रा पर प्रतिबंध, हरिद्वार में कांवड़ियों की 'नो एंट्री'

Also Read - Uttarakhand Lockdown Update: उत्तराखंड में ढील के साथ एक हफ्ते बढ़ा कर्फ्यू, जानें पर्यटकों के लिए क्या है नई गाइडलाइंस

इससे पहले आज ही भारतीय चिकित्सा संघ (IMA) की उत्तराखंड इकाई ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को चिट्ठी लिखकर कोविड-19 की तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर इस साल कांवड़ यात्रा को रद्द करने का आग्रह किया है. एक पत्र में महामारी की तीसरी लहर को लेकर चिकित्सा विशेषज्ञों की चेतावनी की ओर मुख्यमंत्री का ध्यान दिलाते हुए, IMA के राज्य सचिव अमित खन्ना ने उनसे कांवड़ा यात्रा के प्रस्ताव को मंजूरी नहीं देने का आग्रह किया.

एक पखवाड़े चलने वाली यात्रा श्रावण महीने की शुरुआत (करीब 2 जुलाई) से आरंभ होकर और अगस्त के पहले हफ्ते तक चलेगी जिसमें उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, दिल्ली और हिमाचल प्रदेश के करोड़ों कांवड़िए गंगा का पवित्र जल लेने के लिए हरिद्वार में जमा होते हैं.

पिछले साल कोरोना वायरस की पहली लहर की वजह से यात्रा को रद्द कर दिया गया था. खन्ना ने IMA की ओर से कहा, ‘हम आपसे जुलाई-अगस्त, 2021 में प्रस्तावित कांवड़ यात्रा को मंजूरी नहीं देने का अनुरोध करते हैं, क्योंकि कई विशेषज्ञों के अनुसार, देश में कोविड महामारी की तीसरी लहर दस्तक देने के लिए तैयार है.’ धामी ने कहा था कि उत्तर प्रदेश, हरियाणा सहित अन्य पड़ोसी राज्यों के साथ परामर्श के बाद अंतिम निर्णय लिया जाएगा.

(इनपुट: ANI, भाषा)