Coronavirus Vaccine Updates: देश में जारी कोरोना संकट के बीच इसकी वैक्सीन (Corona Vaccine) का इंतजार कर रहे लोगों के लिए राहत की खबर है. भारत के औषधि नियामक DCGI ने सीरम इंस्टीट्यूट (Serum Institute) और भारत बायोटेक (Bharat Biotech) की कोरोना वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है. अब जल्द ही देश में कोरोना वायरस को रोकने के लिए टीकाकरण शुरू हो जाएगा.Also Read - CoronaVaccine News: कोरोना टीका लगवाने पर यहां मिल रहा बंपर इनाम, नहीं लगवाने पर कहीं मिल सकती है सजा, जानिए

एक साथ दो वैक्सीन को मंजूरी मिलने पर AIIMS के निदेशक रणदीप गुलेरिया (Randeep Guleria) ने कहा कि यह देश के लिए अच्छा दिन है. उन्होंने कहा कि मंजूरी मिलने वाले दो टीकों में एक स्वदेशी ‘कोवैक्सीन’ का उपयोग बैकअप के रूप में किया जा सकता है. AIIMS निदेशक ने कहा कि दोनों ही टीके भारत में बनाए गए हैं. Also Read - Big News! कोरोना वैक्सीन नहीं लेने वालों पर लगने जा रहा प्रतिबंध? सिनेमाघर, मेट्रो, बस इत्यादि में प्रवेश होगा निषेध

गुलेरिया ने कहा कि Bharat Biotech के टीके को बैकअप के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है. जब कोरोना मामलों में अचानक वृद्धि होती है तो इमरजेंसी स्थिति में हमें टीकाकरण करने की आवश्यकता होती है, ऐसे में भारत बायोटेक की वैक्सीन का उपयोग किया जा सकता है. इसके अलावा अगर हमें सीरम इंस्टीट्यूट की वैक्‍सीन (SII) की क्षमता पर जरा भी शक हुआ तो इसे बैकअप के तौर पर प्रयोग किया जाएगा.’ Also Read - Omicron के खतरों के बीच क्या आने वाला है वैक्सीन का बूस्टर डोज? इस कंपनी ने DCGI से मांगी इजाजत

इससे पहले केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (CDSCO) की कोविड-19 संबंधी विषय विशेषज्ञ समिति (SEC) की अनुशंसा के आधार पर भारत के औषधि महानियंत्रक (DCGI) ने यह मंजूरी प्रदान की है.

भारत में कोविड-19 रोधी दो टीकों के आपात इस्तेमाल को मंजूरी दिए जाने को कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ भारत की जंग में निर्णायक क्षण बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि इससे कोविड मुक्त भारत की मुहिम को बल मिलेगा. मोदी ने ट्वीट किया, ‘वैश्विक महामारी के खिलाफ भारत की जंग में एक निर्णायक क्षण. सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटक के टीकों को DCGI की मंजूरी से एक स्वस्थ और कोविड मुक्त भारत की मुहिम को बल मिलेगा। इस मुहिम में जी-जान से जुटे वैज्ञानिकों-अन्वेषकों को शुभकामनाएं और देशवासियों को बधाई.’

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, ‘यह गर्व की बात है कि जिन दो वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दी गई है, वे दोनों मेड इन इंडिया हैं. यह आत्मनिर्भर भारत के सपने को पूरा करने के लिए हमारे वैज्ञानिक समुदाय की इच्छाशक्ति को दर्शाता है. आत्मनिर्भर भारत, जिसका आधार है- सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामया.’ मोदी ने वायरस के खिलाफ लड़ाई में देश के अग्रिम मोर्चे के कर्मियों को सलाम किया. स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने इसे कोविड-19 के खिलाफ भारत की लड़ाई में निर्णायक क्षण बताया.

(इनपुट: भाषा)