नई दिल्ली: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के नेता इंद्रेश कुमार ने महिलाओं से रेप को लेकर एक विवादित बयान दिया है. कुमार का कहना है कि पश्चिमी संस्कृति का ‘वैलेंटाइन डे’ बलात्कार, नाजायज बच्चों और महिलाओं के खिलाफ बढ़ती हिंसा के लिए जिम्मेदार है. उन्‍होंने जयपुर में आरएसएस कार्यकर्ताओं के एक प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान शुक्रवार को यह बात कही. Also Read - लॉकडाउन में RSS ने मदद के लिए बढ़ाए हाथ, शिविर लगाकर लोगों में बांटे राहत सामग्री

उन्होंने कहा कि भारत में प्रेम पवित्र और शुद्ध होता है लेकिन पश्चिम ने इसका बाजारीकरण कर दिया है. आरएसएस नेता ने कहा, ‘भारत में प्रेम पवित्र और शुद्ध रहा है. यह राधा-कृष्‍ण, लैला-मजनूं और हीर-रांझा की कहानियों के रूप में सुनाया जाता है, लेकिन पाश्‍चात्‍य सभ्‍यता ने प्रेम का बाजारीकरण कर दिया. इसने वैलेंटाइंस डे जैसे पर्वों को जन्‍म दिया है जो कि अब बलात्‍कार, नाजायज बच्‍चों और महिलाओं पर हिंसा जैसी समस्‍याओं के लिए जिम्‍मेदार है.’ Also Read - कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर जनता कर्फ्यू में योगदान दें स्वयंसेवक: आरएसएस

इंद्रेश कुमार आरएसएस अक्सर अपने विवादित बोल को लेकर चर्चाओं में रहते हैं. इससे पहले, उन्होंने गौमांस खाने की वकालत करने वालों को कहा था कि वो शैतान की पार्टी से जुड़े हैं. Also Read - राहुल गांधी का ज्योतिरादित्य सिंधिया पर बड़ा बयान, कहा- 'हमारी दोस्ती पुरानी, वह पछताएंगे'

उन्होंने कहा था कि वेटिकन सिटी और मक्का मदीना में भी आज तक गाय की कुर्बानी नहीं हुई है. इसके अलावा, वो देश विरोधी नारे लगाने वालों और भारत माता की जय न बोलने वालों को पाकिस्तान चले जाने की भी नसीहत दे चुके हैं.