नयी दिल्ली: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कुछ राज्यों में प्रतिमाओं को क्षतिग्रस्त करने की घटनाओं को बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बताया और कहा कि बीजेपी खुलेपन और रचनात्मक राजनीति के प्रति हमेशा ही प्रतिबद्ध रहेगी जिससे इसका लोगों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव पड़े. शाह ने अपने ट्वीट में कहा कि उन्होंने त्रिपुरा, तमिलनाडु में पार्टी इकाइयों से बातचीत की है और प्रतिमा क्षतिग्रस्त करने की घटना में पार्टी का कोई भी कार्यकर्ता शामिल पाया गया तो उसे कड़ी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा.

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, ‘‘ हमारा मुख्य ध्येय लोगों के जीवन में परिवर्तनकारी बदलाव लाना और न्यू इंडिया का निर्माण करना है. हमें इस बात का गर्व है कि हमारी विचारधारा और कार्य ने हमें पूरे भारत में लोगों से जोड़ने का काम किया है और हमारे गठबंधन की सरकार 20 से अधिक राज्यों में है. ’’

शाह ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि कुछ राज्यों में प्रतिमाओं को क्षतिग्रस्त करने की घटनाएं हुईं जो बेहद दुर्भाग्यपूर्ण हैं और एक पार्टी के तौर पर हम ऐसी घटनाओं का समर्थन नहीं करते.

उन्होंने कहा, ‘‘ एक पार्टी के तौर पर बीजेपी का मानना है कि भारत में विविध विचार और विचारधारा सहअस्तित्व के साथ रह सकते हैं. ऐसा ही विचार हमारे संविधान निर्माताओं ने इस महान देश के लिये देखा था. भारत की विविधता और जीवंत भावना पर चर्चा ही हमें मजबूती प्रदान करती है. ’’

गौरतलब है कि सोमवार को दक्षिण त्रिपुरा के बेलोनिया में लेनिन की प्रतिमा को बुल्डोजर की मदद से गिरा दिया गया था. त्रिपुरा में विधानसभा चुनाव में भाजपा की जीत हुई है और इसके साथ ही वाम सरकार 25 साल बाद यहां की सत्ता से बाहर हुई है. तमिलनाडु के वेल्लोर जिले में कल रात समाज सुधारक एवं द्रविड़ आंदोलन के संस्थापक ई वी रामासामी पेरियार की प्रतिमा कथित रूप से क्षतिग्रस्त कर दी गई. पश्चिम बंगाल से श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा को निशाना बनाये जाने की खबर है.

भाषा