नई दिल्ली/अजमेर. चुनाव आयोग ने शनिवार को 5 राज्यों में चुनाव की तारीखों को ऐलान कर दिया है. इसके साथ ही राजस्थान में 8 नवंबर को चुनाव होंगे और वोटों की गिनती 11 दिसंबर को होगी. आयोग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के साथ ही पांचों राज्यों में आचार संहिता भी लगा दिया. लेकिन इस बीच अजमेर में एक रैली के दौरान राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे सिंधिया ने किसानों को मुफ्त बिजली देने की घोषणा की. वसुंधार ने ये ऐलान ठीक चुनाव आयुक्त के प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले की. Also Read - कुछ लोग भाजपा में फूट की खबरें फैला रहे हैं, उन्हें बता दूं कि हम सभी एकजुट हैं: वसुंधरा राजे

वसुंधरा ने कहा, हमारी सरकार चाहती है कि किसानों को एक सीमा तक मुफ्त में बिजली मिले, जिससी उनकी आमदनी में इजाफा हो जाए. उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के सामान्य श्रेणी के कनेक्शन वाले सभी किसानों को एक निश्चित सीमा तक फ्री में बिजली देने की योजना शुरू की जा रही है. इस दौरान उन्होंने दावा किया कि राज्य में बिजली की व्यवस्था के लिए उनकी सरकार ने काफी काम किया है. Also Read - गहलोत सरकार पर वसुंधरा राजे का हमला, कहा- कांग्रेस की अंदरूनी लड़ाई का खामियाजा राजस्थान की जनता भुगत रही है

20-22 घंटे बिजली मिलने का दावा
बता दें कि सीएम वसुंधरा राज्य में चलाई जा रही बीजेपी की गौरव यात्रा के समापन पर अजमेर में जनसभा को संबोधित कर रही थीं. उन्होंने कहा कि 4 साल में 40 हजार करोड़ रुपये खर्च बिजली की व्यवस्था की गई है. अब पूरे प्रदेश में 20-22 घंटे बिजली मिलती है. Also Read - Rajasthan Political Crisis News Update: कांग्रेस ही नहीं भाजपा भी है दो फाड़! पूर्व सीएम वसुंधरा की चुप्पी के क्या हैं मायने?

राजस्थान में कब है चुनाव?
राजस्थान में 7 दिसंबर को वोट पड़ेंगे और 11 दिसंबर को वोटों की गिनती होगी. उसी दिन परिणाम भी आ जाएंगे. राजस्थान में कुल 200 विधानसाभा सीटें हैं. इनमें 163 सीटें बीजेपी के पास और 3 सीटें कांग्रेस के पास है.