नई दिल्ली/जयपुर. राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे सिंधिया मंगलवार की सुबह बांसवाड़ा के त्रिपुर सुंदरी मंदिर में दर्शन करने पहुंची. इस दौरान वह मंदिर के गर्भगृह के पास बैठी हुई हैं. बताया जा रहा है कि वह जब तक परिणाम की स्थिति स्पष्ट नहीं हो जाती है तबतक मंदिर में ही बैठी रहेंगी. स्पष्ट परिणाम आने के बाद ही वह मंदिर से निकलेंगी.

बता दें कि वसुंधरा राजे सिंधिया का त्रिपुरा सुंदरी मंदिर में खास लगाव है. वह हर चुनाव के दौरान यहां जाती हैं और काउंटिंग के दिन भी दर्शन करती हैं. ऐसा वह पिछले 5 चुनाव से कर रही हैं. हर चुनाव में काउंटिंग के दिन वह मंदिर जाती हैं और देवी की आराधना करती हैं. वसुंधरा साल 2013 में राजस्थान चुनाव जीतने में सफल रही थीं. उन्हें 165 सीटें मिली थीं. इस एकतरफा और बड़ी जीत के बाद वह दूसरी बार सीएम की कुर्सी पर बैठी थीं. इस बार रिजल्ट में क्या होगा यह शाम तक स्पष्ट हो जाएगा.

मंदिर का इतिहास
बता दें कि त्रिपुर सुंदरी मंदिर राजस्थान के बांसवाड़ा जिले के मुख्यालय से 19 किमी की दूरी पर स्थित है. त्रिपुरा सुंदरी देवी के मंदिर को माता तुर्तिया के नाम से भी जाना जाता है. मंदिर में काले पत्थर पर खुदी हुई देवी की एक मूर्ति प्रतिष्ठित है. बताया जाता है कि यह मंदिर कुषाण तानाशाह के शासन से भी पहले बनाया गया था. मंदिर एक ‘शक्ति पीठ’ के रूप में प्रसिद्ध है और जो हिंदू, देवी ‘शक्ति’ या देवी ‘पार्वती’ की पूजा करते हैं, वे यहां पहुंचते हैं.