Veer Savarkar Birthday: स्वतंत्रता सेनानी और संघ विचारक वीर सावरकर का आज जन्मदिन है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर उन्हें याद किया है. पीएम ने अपने ट्वीट में लिखा है कि जन्मदिवस पर वीर सावरकर को नमन. वह एक मजबूत भारत को लेकर प्रतिबद्ध थे. उनमें गजब की देशभक्ति और साहस की भावना था. पीएम ने आगे लिखा है कि उन्होंने कई भारतीयों को खुद को राष्ट्र निर्माण में समर्पित करने के लिए प्रेरित किया. सावरकर को लेकर पीएम इस संदेश से इतर भाजपा के ही एक राज्य राजस्थान में उन्हें ‘पुर्तगाल का पुत्र’ करार दिया गया है. इसको लेकर विवाद पैदा हो गया है. राज्य के पूर्व शिक्षा मंत्री ने 10वीं कक्षा की सामाजिक विज्ञान की पुस्तक में संघ विचारक विनायक दामोदर सावरकर (Veer Savarkar Birthday) को ‘पुर्तगाल का पुत्र’ बताने पर कांग्रेस सरकार को घेरा है. हालांकि, कांग्रेस सरकार ने बदलाव को शिक्षाविदों की अनुशंसा बताया है.

पूर्व स्कूली शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा है कि राज्य की कांग्रेस सरकार को पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के बयान से प्रेरणा लेनी चाहिए जिसमें उन्होंने सावरकर को साहस एवं देशभक्ति का प्रतीक, एक देशभक्त क्रांतिकारी एवं असंख्य लोगों का प्रेरणा पुरुष बताया था. देवनानी ने अपने ट्विटर हैंडल पर इस बारे में कई ट्वीट किये है.

देवनानी ने ट्वीट में कहा कि ‘वीर सावरकर के वीर होने पर प्रश्न चिन्ह लगाने वाली कांग्रेस सरकार को अपनी पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का इतिहास पढ़ना चाहिए. इंदिरा सरकार ने 1970 में उन पर डाक टिकट जारी कर स्वतन्त्रता आंदोलन में उनके योगदान एवं देशभक्ति की प्रशंसा की थी. वीर सावरकर के मुंबई स्थित स्मारक के लिए इंदिरा गांधी ने अपने व्यक्तिगत खाते से उस वक़्त 11 हजार रुपए का सहयोग दिया था. इंदिरा ने सार्वजनिक तौर पर वीर सावरकर के स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान को सराहा और फिल्म्स डिवीज़न ने सावरकर पर फिल्म भी बनाई थी. उन्होंने कहा कि महान क्रांतिकारी को ‘पुर्तगाल का पुत्र’ कहना देशभक्त का अपमान है. राज्य सरकार के पास केवल वीर वीरांगनाओं का अपमान करने और केवल एक परिवार की प्रशंसा करने का एक एजेंडा है.

कांग्रेस सरकार ने राज्य में सत्ता में आने के बाद पाठ्यपुस्तकों के पुनरीक्षण के लिए समिति का गठन किया है. समिति ने हाल ही में सावरकर की लघु आत्मकथा का पुनरीक्षण कर उनके नाम के आगे से ‘वीर’ शब्द हटा कर विनायक दामोदर सावरकर को महात्मा गांधी की हत्या का षडयंत्र करने और उनकी हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे का समर्थक बताया गया है. राजस्थान के स्कूली शिक्षा मंत्री गोविंद डोटासरा ने कहा कि पाठ्यपुस्तकों में बदलाव शिक्षाविदों की विशेषज्ञों की समिति की अनुशंसा के आधार पर किया जा रहा है.

(इनपुट-भाषा)