हैदराबाद: वरिष्ठ कांग्रेस नेता वीरप्पा मोइली ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव में त्रिशंकु विधानसभा या फिर भाजपा की बढ़त की भविष्यवाणी करने वाले एग्जिट पोल को खारिज करते हुए आज दावा किया कि उनकी पार्टी को वहां साधारण बहुमत मिलेगा. मोइली ने कनार्टक में मतगणना से एक दिन पहले कहा, ‘अगर लोगों ने प्रदर्शन पर वोट डाला है तो मैं समझता हूं कि कांग्रेस को बहुमत मिलना चाहिए. मैं समझता हूं कि सभी संभावनाओं के अनुसार हमें कम से कम साधारण बहुमत मिलेगा.’

बहुमत के जादुई आंकड़े तक नहीं पहुंचने पर कांग्रेस क्या करेगी? इस सवाल पर उन्होंने कहा, ‘सिर्फ कल ही चुनावी नतीजे आने के बाद हम कुछ कह सकते हैं.’ मोइली ने दावा किया कि इससे पहले विशेषज्ञ और पेशेवर लोग एग्जिट पोल का संचालन करते थे, लेकिन इन दिनों इस तरह की कवायद ‘उनके (टीवी चैनलों के) जुड़ाव से प्रभावित होती हैं.’ पूर्व केंद्रीय मंत्री से जब पूछा गया कि क्या खंडित जनादेश आने पर कांग्रेस पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौडा के नेतृत्व वाले जद (एस) के साथ हाथ मिलाने के लिए तैयार है तो उन्होंने कहा कि वह इस पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहते क्योंकि उनकी दृढ़ मान्यता है कि कांग्रेस को साधारण बहुमत मिलेगा.

मोइली ने कहा कि कांग्रेस ने चुनाव में सकारात्मक प्रचार किया. उन्होंने आरोप लगाया कि इसके खिलाफ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नकारात्मक प्रचार किया और कांग्रेस नेताओं पर निजी हमले किए. उन्होंने कहा कि (अगर) नकारात्मकता (भाजपा के लिए) सकारात्मक नतीजा ला सकती है तो ईश्वर ही इस देश को बचा सकता है.’ वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कर्नाटक को ‘धर्मनिरपेक्ष भूमि’ बताते हुए कहा कि उन्हें नहीं लगता कि भाजपा को राज्य में ‘वास्तविक, प्राकृतिक विकास’ मिलेगा. उन्होंने कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धरमैया के कल के इस बयान पर कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया कि ‘अगर पार्टी कोई दलित मुख्यमंत्री तय करने का फैसला करती है तो यह अच्छा है.’